Sunday , August 20 2017
Home / Jharkhand News / एफसीआई टेंडर घोटाला : सीबीआई का झारखंड समेत 4 रियासतों में छापा

एफसीआई टेंडर घोटाला : सीबीआई का झारखंड समेत 4 रियासतों में छापा

रांची/मेदिनीनगर : एफसीआई के टेंडर घोटाले में सीबीआई रांची की टीम ने मंगल को चार रियासतों में एक साथ छापेमारी की। सीबीआई ने झारखंड के मेदिनीनगर, पंजाब के मोहाली, चंडीगढ़ और तमिलनाडु के ईरोड में एफसीआई के जीएम जी कार्तिकेयन के घर और दफ्तर को खंगाला।
यहां से कई अहम् कागजात जब्त किए गए। इसके अलावा मेदिनीनगर के मेसर्स किशोर इंटरप्राइजेज के ओनर युगल किशोर के रिहाईशगाह से भी टेंडर से जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए। जांच एजेंसी ने जब्त दस्तावेजों की छानबीन शुरू कर दी है।

क्या है इल्ज़ाम

साल 2014-15 में जी कार्तिकेयन एफसीआई के रांची रीजनल ऑफिस में जीएम थे। उस वक़्त हटिया गोदाम से नगड़ी तक फ़ूड ढुलाई के लिए टेंडर निकाला गया। मेसर्स किशोर इंटरप्राइजेज के ओनर युगल किशोर ने ढुलाई के मार्केट रेट से 981 फीसद ज्यादा शरह से कोट की। इसके बावजूद कार्तिकेयन ने युगल किशोर की कंपनी को टेंडर अलॉट कर दिया। इसकी जानकारी मिलने पर सीबीआई ने छानबीन की। टेंडर में गड़बड़ी पाए जाने के बाद कार्तिकेयन और युगल किशोर के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए छापेमारी मुहीम चलाया गया।

सीबीआई की तहकीकात में यह सुबूत सामने आया कि 2013-14 में भी हटिया से नगड़ी तक फ़ूड की ढुलाई के लिए टेंडर निकाला गया था। किसी दूसरी कंपनी ने मार्केट रेट के हिसाब से शरह कोट की।
उसे काम अलॉट करना फाइनल कर दिया गया था, लेकिन मौजूदा जीएम कार्तिकेयन ने यह कहते हुए उस टेंडर को मनसुख कर दिया कि मुताल्लिक कंपनी का रेट काफी ज्यादा है। खास बात यह है कि एक साल के बाद उसी रूट में माल ढुलाई के लिए उन्होंने पिछले रेट से 981 फीसद ज्यादा शरह पर टेंडर अलॉट कर दिया।

एफसीआई की तरफ से फ़ूड के ट्रांसपोर्टेशन और हैंडलिंग का काम दो साल के लिए अलोट करने के लिए टेंडर इनवायट किया गया था। हटिया से नगड़ी रुट के लिए करीब दो करोड़ रुपए में किशोर इंटरप्राइजेज को काम दिया गया। इससे सरकारी पैसे की नुकसान हुई।

दीगर रियासतों से क्या है कनेक्शन

टेंडर घोटाला के अहम् मुलजिम जी कार्तिकेयन 2014-15 में रांची में तक़र्रुर थे। मौजूदा में वह एफसीआई चंडीगढ़ में काम कर रहे हैं। मोहाली में कार्तिकेयन का सरकारी रिहाईशगाह है। उनका अबायी रिहाईशगाह ईरोड में है। कार्तिकेयन के ठिकानों को खंगालने के दौरान सीबीआई ने दीगर रियासतों में दस्तक दी। युगल किशोर का दफ्तर और रिहाईशगाह मेदिनीनगर के नई मोहल्ला में है।

TOPPOPULARRECENT