Monday , September 25 2017
Home / India / मुज़फ़्फ़ नगर फ़साद पर आवाज़ें नहीं उठीं: मर्कज़ी वज़ीर

मुज़फ़्फ़ नगर फ़साद पर आवाज़ें नहीं उठीं: मर्कज़ी वज़ीर

नई दिल्ली: मर्कज़ी वज़ीरे रवी शंकर प्रसाद ने आज नामवर मुसन्निफ़ीन से उनके बतौर-ए-एहतजाज एवार्ड्स वापिस करने के सिलसिले में उनसे सवाल किया कि आख़िर एमरजेंसी और मुज़फ़्फ़र नगर फ़सादात‌ के बाद उन्होंने आवाज़ क्यों नहीं उठाई। माक़ूलीयत पसंद कलबरगी के क़त्ल और दादरी सानिहा में ऐसी क्या ख़ास बात है जिसके ख़िलाफ़ एहतेजाज किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि उन्हें सख़्त दुख पहुंचता है जबकि मुल्क में ऐसे वाक़ियात होते हैं लेकिन एसे वाक़ियात पर अवाम को अपने एवार्ड्स वापिस नहीं करने चाहिऐं। एमरजेंसी में जम्हूरी हुक़ूक़ बिशमोल सहाफ़त की आज़ादी कुचल दी गई थी। मुज़फ़्फ़र नगर फ़सादात‌ में कसीर तादाद में अक़ल्लीयती तबक़ा के अफ़राद क़तल और बे-घर हुए थे लेकिन किसी भी नामवर मुसन्निफ़ ने बतौर-ए‍-एहतेजाज अपनी आवाज़ नहीं उठाई और ना ऐवार्ड वापिस किया।

ऐवार्ड सलाहीयत और इल्म की बिना पर दिया जाता है। हर शख़्स को इस पर फ़ख़र होना चाहिए। बतौर-ए‍-एहतेजाज ऐवार्ड वापिस करना नामुनासिब है। ताहम मर्कज़ी वज़ीर ने मज़ीद सवालात का जवाब देने से इनकार करते हुए कहा कि वो इस मसले पर शहि नशीन पर बैठ कर कोई बेहस छेड़ना नहीं चाहते।

मर्कज़ी वज़ीर सक़ाफ़्त महेश शर्मा पहले ही इस पर तफ़सीली बयान दे चुके हैं। हुकूमत पर अपोज़ीशन की तन्क़ीद के बारे में सवाल का जवाब देते हुए रवी शंकर प्रसाद ने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और सदर बी जे पी अमित शाह इस सिलसिले में बहुत कुछ कह चुके हैं।

TOPPOPULARRECENT