Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / एम बी बी एस बी डी इसके लिए आज से कौंसलिंग

एम बी बी एस बी डी इसके लिए आज से कौंसलिंग

हैदराबाद ०६अगस्त‌ ( सियासत न्यूज़) डाक्टर एन टी आर यूनीवर्सिटी आफ़ हीलत साईंस वजए वाड़ा की जानिब से रियासत की तीन इलाक़ा वारी योनियो रसीटयों के हदूद में वाक़्य मैडीकल कॉलिजस में एमबी बी ऐस और बी डी ऐस कोर्सेस में ख़ुसूसी ज़मुरा ज

हैदराबाद ०६अगस्त‌ ( सियासत न्यूज़) डाक्टर एन टी आर यूनीवर्सिटी आफ़ हीलत साईंस वजए वाड़ा की जानिब से रियासत की तीन इलाक़ा वारी योनियो रसीटयों के हदूद में वाक़्य मैडीकल कॉलिजस में एमबी बी ऐस और बी डी ऐस कोर्सेस में ख़ुसूसी ज़मुरा जात एन सी सी फ़ौजी मुलाज़मीन स्पोर्टस और जिस्मानी माज़ूर यन कोटा के तहत उम्मीदवारों के दाख़िलों के लिए कौंसलिंग और तमाम सदाक़तना मों की जांच 6 और 7 अगस्त को की जाएगी ।

और इस सिलसिला में उम्मीदवारों की तलबी वग़ैरा सदाक़तना मों की जांच केलिए तमाम तर इंतिज़ामात मुकम्मल कर लिए गए हैं । इन टी आर यूनीवर्सिटी आफ़ हीलत साईंस के बावसूक़ ज़राए ने ये बात बताई और कहा कि इन सी सी फ़ौजी मुलाज़मीन केलिए सदाक़तना मों की जांच-ओ-कौंसलिंग 6 अगसट को की जाएगी ।

और असपोरटसमीन (खिलाड़ियों) और जिस्मानी माज़ूर यन उम्मीदवारों के लिए सदाक़तना मों की जांच और कौंसलिंग 7 अगसट को मुतवक़्क़े है । बताया जाता है कि इन सी सी तहफ़्फुज़ात ज़मुरा के लिए अब तक (0.25) फ़ीसद नशिस्तें पाई जाती थीं । लेकिन इस साल इस कोटा में इज़ाफ़ा करते हुए एक फ़ीसद करने की वजह से नशिस्तों की तादाद मेंइज़ाफ़ा हुआ है ।

इस तरह हर (100) नशिस्तों केलिए एक एमबी बी ऐस नशिस्त एन सी सी-ओ-फ़ौजी मुलाज़मत के उम्मीदवारों को फ़राहम होगी और इस कोटा के तहत पर की जाएगी । जबकि इन सी सी-ओ-फ़ौजी मुलाज़मीन केलिए एक फ़ीसद कोटा के तहत जुमला(38) एमबी बी ऐस और 8 ता 11 बी डी ऐस नशिस्तें हासिल हो सकें गी । मज़ीद बताया जाता है कि असपोरटसमीन (खिलाड़ियों के ज़मुरा ) कोटा के तहत (0.50)फ़ीसद होने केबाइस 16 ता 18 एमबी बी ऐस और 3 ता 6 बी डी उसकी नशिस्तें खिलाड़ियों के ज़मुरा के उम्मीदवारों को हासिल हो सकेंगी ।

इलावा अज़ीं जिस्मानी माज़ूर यन के लिए मुख़तस करदा कोटा के तहत 3 फ़ीसद नशिस्तें पाई जाने के पेशे नज़र इन उम्मीदवारों को 100 सेज़ाइद नशिस्तें महफ़ूज़ रहेंगी और माज़ूर यन को ये नशिस्तें हासिल हो सकें गी । बताया जाता है कि जिस्मानी तौर माज़ूर उम्मीदवारों की ख़ातिरख़वाह तादाद ना पाए जाने के नतीजा में इस साल 80 फ़ीसद नशिस्तें भी पर होने का इमकान नहीं है ।

अगर वाक़ई जिस्मानी तौर पर माज़ूर उम्मीदवारों की नाकाफ़ी तादाद पाई ने की सूरत में इन नशिस्तों को माह अगसट के तीसरे हफ़्ता में मुनाक़िद की जाने वाली दूसरे मरहला की कौंसलिंग के मौक़ा परावपन ज़मुरा में तबदील करके दुबारा इन नशिस्तों के लिए कौंसलिंग कर के दाख़िलों को यक़ीनी बनाया जाएगा ।

TOPPOPULARRECENT