Thursday , October 19 2017
Home / Business / एयर इंडिया तैय्यारों की फ़रोख़्तगी का फ़ैसला

एयर इंडिया तैय्यारों की फ़रोख़्तगी का फ़ैसला

नई दिल्ली २५ दिसम्बर: (पी टी आई) मालिया की कमी से दो-चार एयर इंडिया इमकान है कि आइन्दा माह अपने 27 बोइंग 787 ड्रीम लाइनर्स तैय्यारों की पहली खेप आने के बाद उन की ख़रीदारी को रोक देगा और माबक़ी तैय्यारों को फ़रोख़त करने का फ़ैसला करेगा।

नई दिल्ली २५ दिसम्बर: (पी टी आई) मालिया की कमी से दो-चार एयर इंडिया इमकान है कि आइन्दा माह अपने 27 बोइंग 787 ड्रीम लाइनर्स तैय्यारों की पहली खेप आने के बाद उन की ख़रीदारी को रोक देगा और माबक़ी तैय्यारों को फ़रोख़त करने का फ़ैसला करेगा।

एयर इंडिया 230 मिलीयन अमेरीकी डालर की मालीयाती कमी को पूरा करने के लिए 7 तैय्यारों की लीज़ वापिस लेने पर भी ग़ौर कर रहा है। अमरीकी मैनूफैक्चरिंग कंपनी ने जनवरी में इन तैय्यारों की पहली खेप सरबराह करने का फ़ैसला किया है।

दूसरी खेप मार्च में आएगी और तीसरी अप्रैल में। सरकारी ज़राए ने कहाकि मई और जून में भी एक और खेप आएगी। एयर इंडिया बोर्ड ने पहले ही फ़ैसला किया है कि वो इन तय्यारों को फ़रोख़त करदे और माबक़ी तैय्यारों की लीज़ को फ़ौरी वापिस ले ले। लैस वापिस लेने के मुआहिदा और फ़रोख़त के तहत एक फ़रीक़ अपनी इमलाक को ख़रीदार के लिए फ़रोख़त कर सकता है।

जो फ़रोख़त कनुंदा को लीज़ वापिस लेने का इख़तियार है। ज़राए ने कहाकि एयर लाईस को इन तय्यारों की डिलीवरी क़बूल करने के लिए 6 ता 12 माह के दरमयान उबूरी मालिया की ज़रूरत होगी।

TOPPOPULARRECENT