Tuesday , October 24 2017
Home / Khaas Khabar / एय‌र इंडिया की चंद इंटरनेशनल फलाइटें शुरु

एय‌र इंडिया की चंद इंटरनेशनल फलाइटें शुरु

* हड़ताली पाइलेट बातचित‌ के लिए तैयार, 3 पाइले काम पर वापिस‌ , गिल्ड के रुकन होने की तरदीद

* हड़ताली पाइलेट बातचित‌ के लिए तैयार, 3 पाइले काम पर वापिस‌ , गिल्ड के रुकन होने की तरदीद
नई दिल्ली मुंबई । एय‌र इंडिया के 3 पाइलेट जो इस से बीमारी कि छुट्टी की दरख़ास्त दे चुके थे, आज डयूटी पर हाज़िर हो गए। ये 9 रोज़ा हड्ताल‌ के खतम होने कि निशानियां हैं, जिस में 200 से जयादा पाइलेट जिन की यूनीयन आई पी जी ने कहा था कि वो पार्टी के ख़ातमा के लिए हुकूमत से बातचीत के बारे में खुला ज़हन रखती है।

आई पी जी ने कहा कि रुजू होने वाले तीनों पाइलेट इस के सदस्य‌ नहीं हैं और इंतेज़ामीया पर इल्ज़ाम लगाया कि वो हड़तालियों की सफ़ों में फूट डालने और उलझन पैदा करने की कोशिश कर रही है। सेंट्रल उड्ड्यन मंत्री अजीत सिंह ने बगैर किसी शर्त के बातचीत
कि पेशकश करते हुए यकिन‌ दिया था कि एयरलाईन के ख़िलाफ़ बदला कि कार्रवाई नहीं की जाएगी।

इसी दरमयान‌ पाइलेटों कि हड्ताल कि वजह से एयरलाईन ने यूरोप और शुमाली अमेरीका को इंटरनेशनल‌ ख़िदमात में हंगामी मंसूबा के एक हिस्से के तौर पर कमी करदी। मुसाफ़िरों की मुश्किलें अभीतक खत्म‌ नहीं हुइ, जिन्हें या तो दूसरी एयरलाईन में सीट‌ हासिल करनि पड़ रही है या टिकट की क़ीमत पर लागू पाबंदीयां झेलना पड़ रहा है।

इस सवाल पर कि क्या पाइलेट हड़ताल ख़त्म‌ करने के लिए तैयार हैं। आई पी जी के सदर असेंबली सदस्य‌ जितेन्द्र अहोत ने कहा कि हड़ताल जारी है। हम पाइलेटों को हलाकत में नहीं डाल सकते। हड़ताल का जिकर पार्लीमेंट सदस्यों ने भी इज्लास के दौरान पार्टी ख़ुतूत से बालातर होकर किया और हडतालीयों पर ज़ोर दिया कि वो काम पर वापिस आ जाएं।

एय‌र इंडिया पहले ही 71 हड़ताली पाइलेटों को नौकरी से हटा चुका है। एयरलाईंस ने अमेरीका और यूरोप की कई फलाइटों में कमी कर्दी है और कई फलाइटों को एक कर दिया है ताकि इंटरनेशनल फलाइटों में मज्बूती पैदा कि जा सके। एय‌र इंडिया ने दिल्ली। पैरिस। न्यूयार्क, दिल्ली। फ़्रैंकफ़र्ट। शिकागो, दिल्ली। शंघाई और दिल्ली। लंदन रोड पर फलाइटें चलाईं।

पाइलेटों ने मुबय्यना तौर पर सी पी आई एम के सीनीयर क़ाइद सीताराम यचोरी से जो पार्लीमेंट्री स्टान्डींग कमेटी बराए ट्रांसपोर्ट,
टुरीज्म और कल्चर के प्रमुख‌ हैं, संपर्क‌ किया है। हड़ताली पाइलेट कैरीयर में तरक्की के इलावा वाज़िह एच आर इंटीग्रेशन पालिसी बराए मुअस्सीर(असरदायक) इंज़िमाम का मुतालिबा कर रहे हैं, जो पुर्व‌ इंडियन एयरलाईंस और एय‌र इंडिया के मुलाज़मीन के दरमयान झगडे की अहम‌ वजह है।

TOPPOPULARRECENT