Tuesday , October 17 2017
Home / Sports / एशिया कप में आज हिंदुस्तान का कोरिया से मुक़ाबला

एशिया कप में आज हिंदुस्तान का कोरिया से मुक़ाबला

नवीं एशिया कप हाकी टूर्नामेंट में यहां आज‌ हिंदुस्तान को जुनूबी कोरिया के ख़िलाफ़ अपने मैच में सख़्त आज़माईश का सामना होसकता है।

नवीं एशिया कप हाकी टूर्नामेंट में यहां आज‌ हिंदुस्तान को जुनूबी कोरिया के ख़िलाफ़ अपने मैच में सख़्त आज़माईश का सामना होसकता है।

हालाँकि हिंदुस्तान ने टूर्नामेंट में अपनी शुरूआत अच्छी की थी ताहम उसे आज‌ के मैच में दिफ़ाई चैम्पिय‌न जुनूबी कोरिया से सामना करना है और हिंदुस्तान को सख़्त आज़माईश से गुज़रना पड़ सकता है। हिंदुस्तान के लिए आइन्दा साल नीदरलैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में शामिल‌ को यक़ीनी बनाने के लिए एशिया कप जीतना ज़रूरी है।

हिंदुस्तान ने कल सुलतान अज़लान शाह स्टेडीयम में हुए अपने मैच में ओमान के ख़िलाफ़ 8 – 0 से कामयाबी हासिल की थी। ताहम ये कामयाबी हिंडूस्तान को तेज़ रफ़्तार समझी जाने वाली जुनूबी कोऱीयाइ टीम के ख़िलाफ़ कोई फ़ायदा नहीं दे सकती क्योंकि जुनूबी कोरिया की टीम आठ क़ौमी टूर्नामेएंट में अपनी बालादस्ती को बरक़रार रखने के लिए हर मुम्किना जद्द-ओ-जहद करेगी।

जुनूबी कोरिया की टीम आइन्दा साल होने वाले वर्ल्ड कप के लिए पहले ही क्वालीफ़ाई करगई है क्योंकि अर्जनटीना ने अमेरिकन चैम्पिय‌न शिप में कामयाबी हासिल करली थी। ऐसे में अब जुनूबी कोरिया की टीम इस टूर्नामेंट में हिंदुस्तान और पाकिस्तान के मौक़े को ख़त्म करने के लिए जद्द-ओ-जहद करेगी।

आठ मर्तबा की ओलम्पिक चैम्पिय‌न हिंदुस्तान और उसके पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के लिए करो या मरो की सूरत-ए-हाल है क्योंकि उन दोनों में से एक टीम को कम से कम वर्ल्ड कप में शामिल‌ से महरूमी का अंदेशा लाहक़ है। 1971 में वर्ल्ड कप के आग़ाज़ के बाद दोनों टीमों के लिए ऐसी सूरत-ए-हाल पहली मर्तबा पैदा हुई है। ताहम चूँकि हिंदुस्तान ने इस टूर्नामेंट में अपनी शुरूआत अच्छी की है ऐसे में उसे उम्मीद है कि वो आइन्दा मैचस् में भी कामयाबियों का सिलसिला बरक़रार रखेगा।

दानिश मुजतबा एस व सुनील गुरवेंद्र सिंह चंडी और अक्षदीप सिंह की ग़ैरमौजूदगी में नातजुर्बा कार हिंदुस्तानी टीम में मनदीप सिंह नतन थमया मलिक सिंह रमन दीप सिंह और नकन थमया से टीम की उम्मीदें वाबस्ता हैं। मनदीप सिंहने ओमान के ख़िलाफ़ मैच में तीन गोल्स किए थे जबकि रमन दीप और मलिक सिंह ने भी एक एक गोल किया था।

ओमान के ख़िलाफ़ मैच में हिंदुस्तान के लिए अच्छी बात ये रही कि हिंदुस्तान ने पाँच गोल्स फ़ील्ड से किए थे। मिड फ़ील्ड ने कप्तान सरदार सिंह की क़ियादत में अच्छा मुज़ाहरा किया था और खिलाड़ियों में ताल मेल भी देखा गया था। आज‌ कोरिया के ख़िलाफ़ होने वाले मैच में हिंदुस्तान इसी तरह के मुज़ाहरा को दुहराने की कोशिश करेगा। ताहम टीम की हिक्मत-ए-अमली में कुछ तबदीलियां ज़रूर होसकती हैं।

TOPPOPULARRECENT