Monday , July 24 2017
Home / Khaas Khabar / एस.पी. त्यागी की जमानत रद्द करने की याचिका की सुनवाई 25 जनवरी तक टली

एस.पी. त्यागी की जमानत रद्द करने की याचिका की सुनवाई 25 जनवरी तक टली

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले में रिहा हुए पूर्व वायुसेना प्रमुख एस.पी. त्यागी और अन्य दो को मिली जमानत याचिका को रद्द करने की सुनवाई को 25 जनवरी तक टाल दिया गया है। सीबीआई ने इन तीनों को निचली अदालत से मिली जमानत को रद्द करने की अर्जी दाखिल की है। इस पर कोर्ट ने सभी आरोपियों को 24 जनवरी तक अपने जवाब दाखिल  करने को कहा है।

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट में सीबीआई ने याचिका दायर कर मांग की है कि एस.पी. त्यागी को निचली अदालत से मिली जमानत को रद्द कर दिया जाए, क्योंकि इस मामले की जांच देश ही नहीं विदेशों तक चल रही है। सीबीआई का यह भी कहना है कि जमानत पर रिहा हुए एस.पी. त्यागी जांच को प्रभावित कर सकते हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले पूर्व वायुसेना प्रमुख एस.पी. त्‍यागी को पटियाला हाउस कोर्ट ने जमानत दे दी थी। इससे पहले त्‍यागी को अगस्‍ता वेस्‍टलैंड वीवीआईपी चॉपर डील में घूस मामले में गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद उन्‍हें हिरासत में भेज दिया था, लेकिन कोर्ट ने त्‍यागी को दो लाख रुपये के मुचलके पर जमानत दे दी थी। हालांकि निचली अदालत में हिदायत दी थी कि त्यागी दिल्‍ली-एनसीआर छोड़कर न जाएं और सबूतों से भी छेड़छाड़ न करें।

त्‍यागी को सीबीआई ने 9 दिसंबर को गिरफ्तार किया था। इसके अलावा गौतम खेतान और संजीव त्‍यागी उर्फ जूली त्‍यागी को भी गिरफ्तार किया गया था। संजीव त्‍यागी एस.पी. त्‍यागी के चचेरे भार्इ हैं। वहीं गौतम खेतान त्‍यागी के भाई हैं। छह साल पहले अगस्‍ता वेस्‍टलैंड केस में इस कंपनी को ठेका दिलाने के लिए घूस लेने का मामला सामने आया था जिस मामले की सीबीआई जांच कर रही है।

TOPPOPULARRECENT