Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / ए पी एन जी औज़ की हड़ताल पर अदालत का इंतिबाह

ए पी एन जी औज़ की हड़ताल पर अदालत का इंतिबाह

ए पी एन जी औज़ की हड़ताल के ख़िलाफ़ दाख़िल करदा एक दरख़ास्त पर हाइकोर्ट में समाअत 2 सितंबर तक मुल्तवी करदी गई है।

ए पी एन जी औज़ की हड़ताल के ख़िलाफ़ दाख़िल करदा एक दरख़ास्त पर हाइकोर्ट में समाअत 2 सितंबर तक मुल्तवी करदी गई है।

अदालत ने इस दरख़ास्त पर समाअत आइन्दा पिर तक के लिए मुल्तवी करदी है क्यूंकि ए पी एन जी औज़ ने अदालत से कहा कि उसे अपना जवाब दाख़िल करने के लिए जुमा तक वक़्त दरकार है।

अदालत ने ये वाज़िह करते हुए कि हर शहरी को अपना सरकारी फ़र्ज़ ( ड्यूटी ) अदा करना लाज़िमी है ए पी एन जी औज़ को ख़बरदार किया कि अगर ये लोग बरवक़्त अपना जवाब दाख़िल करने में नाकाम रहे तो उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जा सकती है।

बेंच ने ये वाज़िह करते हुए कि सरकारी मुलाज़मीन का सियासत से कोई नहीं होना चाहीए ये वाज़िह किया कि हर शहरी को चाहीए कि वो मुल्क के दस्तूर का एहतेराम करे और इस के मुताबिक़ काम करे।

बेंच ने तबसरा किया कि वो इस बात का भी जायज़ा लेगी कि एन पी एन जी औज़ की जो हड़ताल जारी है वो क़ानूनी है यह गैरकानूनी । अदालत ने तजवीज़ किया कि रियासती और मर्कज़ी हुकूमतें भी अपना अपना जवाब दाख़िल करें।

सीमा आंध्र से ताल्लुक़ रखने वाले तक़रीबान 4 लाख मुलाज़मीन जो मुख़्तलिफ़ तनज़ीमों से वाबस्ता हैं आंध्र प्रदेश की तक़सीम अमल में लाते हुए तेलंगाना रियासत तशकील देने के फैसले के ख़िलाफ़ एहतेजाज कर रहे हैं।

मुलाज़मीन की हड़ताल की वजह से इंतेज़ामीया ठप हो कर रह गया है खासतौर पर साहिली आंध्र और राइलसिमा के 13 अज़ला में सूरत-ए-हाल अबतर है।

सैक्रेटरीएट में भी हड़ताल से काम काज मुतास्सिर है। सीमा आंध्र एहतेजाज को देखते हुए तेलंगाना मुलाज़मीन ने भी एहतेजाज शुरू किया है।

TOPPOPULARRECENT