Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / ए पी में डी एससी के लिए मुक़ामी उम्मीदवार ही अहल

ए पी में डी एससी के लिए मुक़ामी उम्मीदवार ही अहल

नई रियासत आंध्र प्रदेश में असातिज़ा के तक़र्रुत अमल में लाने के लिए मुनाक़िद होने वाले डी एससी के लिए आंध्र प्रदेश रियासत के 13 अज़ला से ताल्लुक़ रखने वाले उम्मीदवार ही अहल होंगे।

नई रियासत आंध्र प्रदेश में असातिज़ा के तक़र्रुत अमल में लाने के लिए मुनाक़िद होने वाले डी एससी के लिए आंध्र प्रदेश रियासत के 13 अज़ला से ताल्लुक़ रखने वाले उम्मीदवार ही अहल होंगे।

इन 13 अज़ला के उम्मीदवार ही अपनी दरख़ास्तें पेश करें क्युंकि मुक़ामी और ग़ैर मुक़ामी उमूर से मुताल्लिक़ साबिक़ा तरीका-ए-कार ही बरक़रार रहेगा। इस सिलसिले में महिकमा नज़म-ओ-नसक़ आम्मा (जी ए डी) हुकूमत आंध्र प्रदेश ने ज़रूरी वज़ाहत दी है।

बताया जाता हैके आंध्र प्रदेश में असातिज़ा की मख़लवा ज़ाइद अज़ दस हज़ार जायदादों पर तक़र्रुत अमल में लाने के लिए गुज़श्ता दिनों ही हुकूमत आंध्र प्रदेश ने डी एससी का इनइक़ाद अमल में लाने का आलामीया जारी करचुकी है।

डी एससी के ज़रीये 20 फ़ीसद ओपन कोटा के लिए कौन अहल होंगे इस सिलसिले में जी ए डी को मुतवज्जा किए जाने के बाद जी ए डी हुकूमत आंध्र प्रदेश ने महिकमा तालीम को वाज़िह हिदायत दी है के वो साबिक़ा क़दीम तरीका-ए-कार पर ही अमल आवरी करें।

इस के अलावा बताया गया कि साबिक़ में मुनाक़िदा डी एससी में जो तरीका-ए-कार इख़तियार किया गया था अब भी इसी तरीका-ए-कार को अपनाने की हिदायत दी गई और इस तरह टेट कम टी आर टी आलामीया में इस ताल्लुक़ से मालूमात फ़राहम की गई हैं और बताया गया कि मख़लवा जायदादें पाए जाने वाले ज़िला के उम्मीदवारों के सिवा दुसरे अज़ला के उम्मीदवार ग़ैर मुक़ामी तसव्वुर किए जाऐंगे। उन्होंने बताया कि अपना आबाई ज़िला जो होगा वो ज़िला में 80 फ़ीसद उम्मीदवार इन जायदादों के लिए मुक़ामी तसव्वुर किए जाऐंगे और 20 फ़ीसद जायदादों के लिए दुसरे अज़ला के दरख़ास्त गुज़ार ग़ैर मुक़ामी तसव्वुर किए जाऐंगे।

TOPPOPULARRECENT