Sunday , April 30 2017
Home / Sports / ऐडमिनिस्ट्रेटिव कमिटी के मल्टीपल रोल निभाने के संदर्भ में टकराव को लेकर द्रविड़, गांगुली से होगी पूछताछ!

ऐडमिनिस्ट्रेटिव कमिटी के मल्टीपल रोल निभाने के संदर्भ में टकराव को लेकर द्रविड़, गांगुली से होगी पूछताछ!

मुंबई : सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त ऐडमिनिस्ट्रेटिव कमिटी (सीओए) ही फिलहाल बीसीसीआई का प्रशासन संभाल रही है। यह कमिटी अब भारत के दो महान खिलाड़ियों से मल्टीपल रोल निभाने के संदर्भ में पूछताछ करने की तैयारी कर रही है। भारत के दो पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ और सौरभ गांगुली से हितों के टकराव को लेकर सवाल किए जा सकते हैं।

द्रविड़ आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम के मेंटॉर होने के साथ ही भारत की अंडर-19 और भारत ‘ए’ के कोच भी हैं। वहीं गांगुली क्रिकेट असोसिएशन के अध्यक्ष (नए सुधारों के मुताबिक योग्य नहीं), बीसीसीआई की तकनीकी समिति के अध्यक्ष और आईपीएल की गर्वनिंग काउंसिल के सदस्य भी हैं। इस सब से ऊपर गांगुली आईपीएल फ्रेंचाइजी के एक मालिक के साथ दूसरे खेल में बिजनस पार्टनर भी हैं।

ये सब मुद्दे पहले भी उठते रहे हैं। द्रविड़ की दोहरी जिम्मेदारी पर सवाल नहीं उठा और जब शशांक मनोहर बीसीसीआई के अध्यक्ष थे तब गांगुली को इन सब भूमिकाओं के लिए ग्रीन सिग्नल दिया गया था। हालांकि अब नए प्रशासकों का मानना है कि इस मुद्दे पर दोबारा विचार करने की जरूरत है।

द्रविड़ 2017 के आईपीएल सीजन के लिए भी डेयरडेविल्स के साथ हैं। गांगुली के केस की पिछले साल लोकपाल में सुनवाई हुई थी और इसमें ‘हितों के टकराव’ की बात नहीं मानी गई थी। गुरुवार को ही बीसीसीआई ने 12 अधिकारियों को निकाल दिया था। ये अधिकारी बोर्ड के दिल्ली और पुणे ऑफिस में काम कर रहे थे। इनमें टीम इंडिया के मीडिया मैनेजर भी शामिल थे। इन सब अधिकारियों को बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और पूर्व सचिव अजय शिर्के ने नियुक्त किया था।

हालांकि, द्रविड़ जहां कोच और मेंटॉर के तौर पर अच्छा काम कर रहे हैं वहीं गांगुली ने भी प्रशासक के तौर पर बढ़िया काम किया है। वहीं बीसीसीआई के पास हितों के टकराव के नियमों को लेकर कोई लिखित दस्तावेज नहीं है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT