Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / ऑटो रिक्शा ड्राइवर की बेटी ने CA के इम्तेहान में टॉप किया

ऑटो रिक्शा ड्राइवर की बेटी ने CA के इम्तेहान में टॉप किया

मुंबई, 23 जनवरी: ( एजेंसी) एक बार फिर यह हकीकत सामने आई है, कि बेटियां बेटों से कतई कमतर नहीं हैं। मुंबई की प्रेमा जयकुमार ने ज़िंदगी की तमाम रुकावटों को पार करते हुए ऐसी कामयाबी हासिल की है, जिस पर कोई भी फख़र कर सकता है। प्रेमा ऑटो रिक्श

मुंबई, 23 जनवरी: ( एजेंसी) एक बार फिर यह हकीकत सामने आई है, कि बेटियां बेटों से कतई कमतर नहीं हैं। मुंबई की प्रेमा जयकुमार ने ज़िंदगी की तमाम रुकावटों को पार करते हुए ऐसी कामयाबी हासिल की है, जिस पर कोई भी फख़र कर सकता है। प्रेमा ऑटो रिक्शा ड्राइवर की बेटी हैं और इस बेटी ने चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) की कुल हिंद इम्तेहान (All India Exam) में अव्वलीन मुकाम हासिल किया है।

प्रेमा अपने वालदैन और भाई के मुंबई के मज़ाफ़ाती इलाक़ा मलाड में वाकेय् मुंबई की रिवायती चाल सिस्टम में एक ही कमरे के मकान में रहती है है। नवंबर 2012 में इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की तरफ से लिए गए इम्तेहान का नतीजा पीर के दिन ऐलान किया गया। इसके बाद से 24 साला प्रेमा और उनके खानदान की खुशियों को पंख लग गए हैं।

प्रेमा से मीडिया से बातचीत में कहा, ‘यह मेरे लिए लाइफ टाइम एचीवमेंट है। यह मेरी कड़ी मेहनत का नतीजा है।’ इसके बावजूद कामयाबी का असल क्रेडिट वह अपने वालदैन को देती हैं। प्रेमा ने CA के इम्तेहान में 800 में से 607 नंबर हासिल किए।

प्रेमा तमिलनाडु की रहने वाली है, जो पिछले कुछ सालों में मुंबई में है। गुज़रबसर के लिए प्रेमा के वालिद जयकुमार पेरूमल ऑटो रिक्शा चलाते हैं। प्रेमा ने बताया कि मेरे वालदैन ने मेरी पढ़ाई-लिखाई में कोई कमी नहीं होने दी।

प्रेमा के 22 साला भाई ने भी बहन के साथ CA का इम्तेहान पास किया है। दोनों भाई-बहन ने नवंबर में साथ में इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंट्स ऑफ इंडिया का इम्तेहान दिए थे। प्रेमा इससे पहले भी पढ़ाई में अपनी क़ाबिलीयत साबित कर चुकी हैं। मुंबई यूनिवर्सिटी की बीकॉम ( 3rd year) के इम्तेहान में वह दूसरे नंबर पर रही थीं। तब उनके 90% marks आए थे।

प्रेमा जयकुमार ने अपनी कामयाबी का सेहरा ( Credit) अपने वालदैन को दिया है। एक मुकामी कंपनी में आर्टिकलशिप करने करने वाली प्रेमा के मुताबिक, ‘वालदैन के दुआओं के बगैर यह कामयाबी मुम्किन नही थी। उन्होंने मुझे हमेशा बेहतर करने के लिए हौसला अफ्ज़ाई की । उन्होंने मेरे लिए बहुत कुछ किया, अब मैं उनके लिए कुछ करना चाहती हूं।’

TOPPOPULARRECENT