Tuesday , October 17 2017
Home / Sports / ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मायूस होकर फ़िक़रे कसते हैं

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मायूस होकर फ़िक़रे कसते हैं

एडीलेड, २७ जनवरी ( पी टी आई ) ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अपने कैरियर की पहली टेस्ट सेचुएयरी स्कोर करने वाले बल्लेबाज़ वीराट कोहली ने आज ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों और मुक़ामी शाइक़ीन पर तन्क़ीद की ।

एडीलेड, २७ जनवरी ( पी टी आई ) ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अपने कैरियर की पहली टेस्ट सेचुएयरी स्कोर करने वाले बल्लेबाज़ वीराट कोहली ने आज ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों और मुक़ामी शाइक़ीन पर तन्क़ीद की ।

उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मुसलसल फ़िक़रे कसते रहते हैं जबकि ऑस्ट्रेलियाई शाइक़ीन हिंदूस्तानी क्रिकेटर्स के साथ इज़्ज़त का रवैय्या इख़तियार नहीं करते ।

कोहली ने आज का खेल ख़तम होने के बाद कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी जब मायूस हो जाते हैं तो फिर वो इस तरह फ़िक़रे कसना शुरू कर देते हैं। यक़ीनन इस से माहौल गर्म हो जाता है और वो चाहते हैं कि इस में बल्लेबाज़ यह दूसरे मुख़ालिफ़ खिलाड़ी अपनी तवज्जा से हट जाय और विकेट गंवा दे ।

उन्हों ने कहा कि आज जब वो वृद्धि मान साहा के साथ रिफ़ाक़त निभा रहे थे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी उसी सूरत-ए-हाल का शिकार थे । आज जब कोहली एक मौक़ा पर रन आउट होते होते बचे उस वक़्त उन की ऑस्ट्रेलियाई बोलर बिन हलफ़नहास के साथ लफ़्ज़ी तकरार भी हो गई । उन्हों ने कहा कि हलफ़नहास ने इन से एसा कुछ कहा जो बिलकुल गैर ज़रूरी थी ।

वो ब्रहम होगए । हलफ़नहास उस वक़्त बौलिंग भी नहीं कर रहे थे । वो 99 रन पर रन आउट होते होते बचे । हलफ़नहास ने इन से एसा कुछ कहा जो वो प्रेस कान्फ़्रैंस में नहीं दोहरा सकते । कोहली ने कहा कि यही अलफ़ाज़ उन्होंने हलफ़नहास के लिए दोहरा दिए । कोहली ने कहा कि जो कुछ उन्हों ने किया है वो दरुस्त था और इस पर उन्हें कोई अफ़सोस नहीं है ।

उन्हों ने कहा कि इस वक़्त उन्हों ने अशांत शर्मा के साथ सोच लिया था कि उन्हें ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के हर्बों का शिकार नहीं होना चाहीए । वो अपने फ़ित्री अंदाज़ में क्रिकेट खेलते हैं और उन्हें जो कुछ किया है इस पर अफ़सोस नहीं है । उन्हों ने कहा कि जब हलफ़नहास से बेहस हो रही थी उस वक़्त रिकी पॉन्टिंग ने दरमियान में बच बचाव किया जिस की वजह से लफ़्ज़ी तकरार बंद हुई।

TOPPOPULARRECENT