Thursday , August 24 2017
Home / Featured News / ओआईसी की बैठक में भाग लेने के लिए शाह सलमान की तुर्की आगमन

ओआईसी की बैठक में भाग लेने के लिए शाह सलमान की तुर्की आगमन

अंकारा: शाह सलमान बिन अब्दुलअजीज आज तुर्की पहुँचे जहाँ अंकारा के एस्सेन बोगा एयरपोर्ट पर सदर रजब तुय्यब अरदगान ने स्वागत किया, वह तुर्की में आयोजित हो रही 13 संगठन इस्लामी कान्फ़्रैंस (ओआईसी) के शिखर सम्मेलन में भाग करेंगे। शाह सलमान के आने से एक हफ्ते पहले दोनों देशों के बीच गतिविधियां काफी बढ़ गई थीं और इस यात्रा की बड़े पैमाने पर तैयारियां की गईं।

उन्होंने विमान से उतरने के लिए ास्कलीटर का इस्तेमाल किया। यह दौरा ऐसे समय हो रहा है जब दोनों देशों ने उच्च स्तरीय सहयोगी की बैठक आयोजित करते हुए संबंधों को और मजबूत बनाने की आवश्यकता जताई है। इस बैठक में दोनों देशों के मंत्रियां शरीक होंगे जो अंकारा में आयोजित हो रहा है।

इस बैठक के बाद सऊदी प्रतिनिधिमंडल इस्तांबुल में ओआईसी सम्मेलन में भाग लेने के लिए रवाना होंगें। शाह सलमान अपना मिस्र का दौरा पूरा करने के बाद आज तुर्की पहुँचे जहाँ वे ओआईसी शिखर बैठक में भाग ले रहे हैं। मिस्र भी विदेश मंत्री के स्तर पर इस बैठक में शिरकत करेंगे।

सीरिया में जारी अशांति के संबंध में सऊदी अरब और तुर्की का समान रुख है और दोनों देश चाहते हैं कि मौजूदा राष्ट्रपति बशारालासद को इस पद से हटाया जाए। सऊदी अरब ने आईएस के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय अभियान में सक्रिय भूमिका निभाते हुए अपने चार लड़ाकू विमान हालिया अर्से के दौरान तुर्की के हवाई अड्डे पर तैनात किए थे।

शाह सलमान की इस यात्रा के दौरान सुरक्षा के असाधारण इंतेजाम किए गए हैं और अंकारा में जे डब्ल्यू मैरियट के 450 वर्ग मीटर किंग सूट बुलेटप्रूफ ग्लास से कवर किया गया है। इसके अलावा इस विशेष कमरे की दीवारों को बम हमलों से सुरक्षित बनाया गया है। शाह सलमान का पांच दिवसीय दौरा तुर्की आज शुरू हुआ और जे डब्ल्यू मैरियट होटल तीन दिन के लिए सऊदी प्रधान लिए बुक कर दी गई है।

सऊदी अरब के लगभग 300 अधिकारियों में शामिल टीम पहले ही यहां पहुंच चुकी थी ताकि व्यवस्था में सहयोग कर सके। बताया जाता है कि होटल में सभी व्यवस्था के लिए लगभग 10 करोड़ डॉलर की लागत आई है। इसके अलावा शाह सलमान के व्यक्तिगत उपयोग के सामान और अन्य सामान कार्गो विमानों द्वारा अंकारा किया गया। शाह सलमान की अंकारा और इस्तांबुल में बैठकों के लिए लगभग पचासों लक्झरी कार किराए पर ली गई हैं। इस जरूरत को पूरा करने के लिए तुर्की के दीगरदबों सहित अंताल्या और अदना से गाड़ियां मँगवाई गई हैं।

TOPPOPULARRECENT