Sunday , August 20 2017
Home / Crime / ओडिशा : 3 महीने में 18 बच्चों की मौत के बाद किया गया कार्यदल का गठन

ओडिशा : 3 महीने में 18 बच्चों की मौत के बाद किया गया कार्यदल का गठन

भुवनेश्वर: जाजपुर जिले के खनिज संपन्न सुकिंदा घाटी के एक गांव में कथित तौर पर कुपोषण के कारण तीन महीने की अवधि में कम से कम 18 बच्चों की मौत होने से राज्य सरकार ने आज क्षेत्र का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने के लिए एक कार्यदल निर्धारित किया है।

विकास आयुक्त आर बालाकृष्णन ने बताया कि सामाजिक कल्याण निदेशक की रिपोर्ट के आधार पर ये  कार्यदल गठित किया गया है |अपनी रिपोर्ट में निदेशक ने कहा था कि ये क्षेत्र स्वास्थ्य, शिक्षा, संचार, बिजली और पीने के पानी जैसी बुनियादी सुविधाओं से वंचित है।

विकास आयुक्त ने कहा कि राजस्व संभागीय आयुक्त (आरडीसी), केंद्रीय प्रभाग, कार्यदल के मुखिया होंगे |

बालाकृष्णन ने संवाददाताओं को बताया कि RDC,  Nagada क्षेत्र की विकासात्मक गतिविधियों पर साप्ताहिक रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा | उन्होंने कहा, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क संपर्क और पीने के पानी की सुविधा के पाँच अलग अलग क्षेत्रों को देखने के लिए पाँच अलग अलग पांच नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया जाएगा |

नगाड़ा, खनिज संपन्न सुकिंदा ब्लॉक के तहत एक घने जंगल में एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। सुकिंदा क्रोमाइट घाटी से लगभग 30 किमी और कलिंग नगर औद्योगिक परिसर से अधिक से अधिक 50 किमी दूर स्थित इस गाँव के लिए कोई सड़क नहीं है।

समाज कल्याण के निदेशक ने अपनी रिपोर्ट में लोगों के लिए एक घने जंगल के माध्यम से अधिक से अधिक 15 किमी की चढ़ाई करके जाने के लिए मोटर योग्य सड़क का उल्लेख भी किया |

हालांकि राज्य सरकार ने 15 हाई बर्डन जिलों में (अंतर्राष्ट्रीय विकास विभाग) डीएफआईडी द्वारा समर्थित पोषण परिचालन योजना (एनओपी)  लागू की थी लेकिन इस सूची में जाजपुर शामिल नहीं था।

TOPPOPULARRECENT