Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / ओबामा ने मुल्क की ताकत को करीब से जाना

ओबामा ने मुल्क की ताकत को करीब से जाना

मुल्क आज 66वां यौम ए जम्हूरिया मना रहा है. सदर जम्हूरिया प्रणब मुखर्जी ने मुल्क के 66वें यौम ए जम्हूरिया के मौके पर आज सुबह राजपथ पर क़ौमी तिरंगा फहराया. इस तारीखी मौके पर अमेरिका के सदर बराक ओबामा चीफ गेस्ट हैं.

मुल्क आज 66वां यौम ए जम्हूरिया मना रहा है. सदर जम्हूरिया प्रणब मुखर्जी ने मुल्क के 66वें यौम ए जम्हूरिया के मौके पर आज सुबह राजपथ पर क़ौमी तिरंगा फहराया. इस तारीखी मौके पर अमेरिका के सदर बराक ओबामा चीफ गेस्ट हैं. इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी और खास मेहमान अमेरिका के सदर बराक ओबामा मौजूद थे. इससे पहले मोदी ने प्रणब का सलामी मंच पर इस्तेकबाल किया.

सदर जम्हूरिया प्रणब मुखर्जी ने नायक नीरज के खानदान को अशोक चक्र से नवाज़ा . क़ौमी राइफल के ही मेजर मुकुंद वरदराजन को भी अशोक च्रक्र से नवाज़ा गया. मेजर वरदराजन को पिछले साल 15 अगस्त को यह एज़ाज़ देने का ऐलान किया गया था.

प्रणब से पहले मोदी ने अमेरिकी सदर और उनकी बीवी मिशेल का इस्तेकबाल किया. मोदी और ओबामा दोनों ने राजपथ पर मौजूद लोगों का हाथ हिलाकर सलाम किया. तिरंगा फहराए जाने के बाद राजपथ पर फौजी सलाहियत और हिंदुस्तानी कल्चर के variation को ज़ाहिर करने वाले परेड की शुरुआत हुई, जिसकी सलामी सदर जम्हूरिया ने लिया.

राजपथ पर मुनाकिद अहम तकरीब में मरकज़ी वुजराओं अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, मनोहर पर्रिकर, वेंकैया नायडू और स्मृति समेत मरकज़ी वज़ीर और कांग्रेस सदर सोनिया गांधी भी मौजूद हैं.

इस बार परेड की खास बात यह है कि पहली बार तीनों अफवाज़ की ख्वातीन आफीसरों का दस्ता दिखेगा.

राजपथ पर हिंदुस्तान में तैयार जदीद मिसाइलों की नुमाइश की जाएगी. तकरीब में मुल्क की फौजी सलाहियत मुख्तलिफ सूबों में हासिल की हुई कामयाबियों , जदीद दिफाई आलात,शकाफती के मुख्तलिफ और सामाज़ी रिवायतो के अलावा हुकूमत की Self-reliance and indigenization का आवामी तौर पर एक जगह दीदार करने का मौका होगा.

इस साल की परेड का खास तवज्जा मुल्क में तैयार सतह से हवा में मार करने वाली दरमियानी फासले की आकाश मिसाइल (Army version) और हथियारों का पता लगाने वाले राडार दोनों का एक साथ मुज़ाहिरा होगा. इन्हें डीआरडीओ ने तैयार किया है.

यौम ए जम्हूरिया के मौके पर आज दिल्ली समेत पूरे मुल्क में सेक्युरिटी के कड़े इंतजाम किए गए है. दिल्ली पुलिस और पैरा मिल्ट्री फोर्स के तकरीबन 40 हज़ार जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए हैं.

दिफाई ज़राए ने बताया कि ख्वातीन आफीसरो के दस्ते का ख्याल पीएम नरेन्द्र मोदी ने दिया, क्योंकि वह चाहते थे कि फौज ख्वातीन की ताकत को तवज्जो दे. तारीखी राजपथ पर 16 रियासतों राज्यों और नौ मरकज़ी वज़ारतों और महकमों की झांकी दिखाई जायेगी,

इस साल ज़्यादातर झांकियों पर पीएम नरेन्द्र मोदी की मुहिम जनधन योजना, मां गंगा, स्वच्छ भारत मिशन वगैरह की छाप रहेगी जिसमें बुलेट ट्रेन और मेक इन इंडिया को भी दिखाया गया है |

TOPPOPULARRECENT