Wednesday , August 23 2017
Home / India / औरंगजेब ने तोड़ा था अयोध्या में राम मंदिर: एक नया दावा

औरंगजेब ने तोड़ा था अयोध्या में राम मंदिर: एक नया दावा

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले अयोध्या मुद्दा जहां फिर सुर्खियों में है, वहीं एक पूर्व आईपीएस अधिकारी द्वारा लिखी गई किताब में दावा किया गया है कि अयोध्या में राम मंदिर बाबर के शासनकाल के दौरान नहीं बल्कि औरंगजेब के शासनकाल में टूट गया था.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बर्तानवी दौर की पुरानी फाइलें, कुछ प्राचीन संस्कृत सामग्री और पुरातात्विक खुदाई के अध्ययन का हवाला देते हुए पुस्तक में यह बताने की कोशिश की गई है कि अयोध्या में मंदिर मोजूद था जिस पर बाद में मस्जिद बनाई गई. गुजरात कैडर और 1972 बैच के पूर्व आईपीएस अधिकारी किशोर कुणाल द्वारा लिखी किताब में मस्जिद निर्माण के समय के बारे में नई बात कही गई है और यह समस्या पिछले स्टैंड की नकारना है.

कुनाल बिहार के रहने वाले हैं और आईपीएस अधिकारी और बाद में बिहार धार्मिक ट्रस्ट बोर्ड के प्रशासक और प्रेसिडेंट के तौर पर जाने जाते हैं। वे गृह मंत्रालय में ओएसडी थे और अयोध्या में बाबरी मसजिद शहादत से पहले 1990 में अयोध्या विवाद से सरकारी तौर पर शामिल थे। सेवानिवृत्ति के बाद वह एसडी संस्कृत विश्वविद्यालय दरभंगा के कुलपति रहे.

पूर्व मुख्य न्यायाधीश जी बी पटनायक ने किताब का दीबाचह लिखा है जिस में उन्होंने कहा है कि लेखक ने ” अयोध्या के इतिहास को नया उतर चढ़ाव” दिया है और बहुत से स्टैंड को कायम किया है जो आम धारणा और कई इतिहासकारों के रुख के विपरीत हैं।

TOPPOPULARRECENT