Thursday , September 21 2017
Home / International / कतर संकट: ‘परिवार एक दूसरे से बिछड़ रहे हैं ‘

कतर संकट: ‘परिवार एक दूसरे से बिछड़ रहे हैं ‘

स्रोत : गार्डियन

कतर के राष्ट्रीय मानवाधिकार समिति के कार्यालय में वे सभी जो सप्ताह लंबे सऊदी की नाकाबंदी से प्रभावित हुए हैं, हर रोज़ सहायता प्राप्त करने के लिए अपने दस्तावेजों के साथ पहुँच जाते हैं ।

सऊदी अरब, बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात ने पिछले हफ्ते क़तर निवासियों को अपने देशों से बाहर जाने का आदेश दे दिया था, जिसका कई लोगों पर सीधा प्रभाव पड़ा है । इन देशो का मानना है की कतर आतंकी समूहों को वित्त पोषण प्रदान कर रहा है, जिसके कारण उन्होंने कतर के साथ लगने वाले हवाई क्षेत्रो और भूमि सीमाओं को बंद कर दिया है।

मानवाधिकार समिति के एक अधिकारी ने कहा, “हमने पिछले हफ्ते 700 लोगों को देखा है। हर रात ऐसा ही होता है।”

सहायता के लिए आने वाले लोगो की असंख्य समस्याएं हैं: मिश्रित खाड़ी देशों के परिवारों को अलग होने का डर है; दूसरों ने अपनी नौकरियां और शिक्षा संस्थानों में अपना स्थान खो दिया है ।

अधिकारियों ने एक सऊदी व्यक्ति की कहानी बताई जिनकी मृत्यु कतर के हमाद अस्पताल में हो गयी है और जिनके बेटों को कथित तौर पर सऊदी अरब द्वारा उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने से रोका जा रहा है।

यह इसी तरह के मामलों का वर्णन कई मानवाधिकार समूहों द्वारा किया गया है।

मदद मांगने वालों में कतर के निवासियों के साथ, अमीरात में सऊदी और बहरीन के निवासी भी शामिल हैं।

फवाज अब्दुल्ला बुकामल, 35, एक कतरी खेल चैनल के बहरीन मीडिया कार्यकर्ता। वे कतर में तब से रह रहे हैं जब से वे एक महीने के थे । पिछले हफ्ते संकट के बाद उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया और बहरीन ने घर लौटने का आदेश दे दिया है।

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एमनेस्टी ने चेतावनी दी है की, नए प्रतिबंध के कारण परिवार अलग हो रहे हैं। समूह ने सऊदी अरब के दोहा में अपनी कतरी बीवी के साथ रहने वाले एक व्यक्ति की कहानी का दस्तावेजीकरण किया है, जो सऊदी अरब में अपनी बीमार माँ से मिलने नहीं जा सकते।

“अगर मैं घर जाता हूं , तो फिर मैं अपनी पत्नी को नहीं देख सकता और अगर मैं यहां रहता हूँ, तो मैं अपनी माँ को नहीं देख सकता हूं”, बेबसी के साथ व्यक्ति ने कहा।

TOPPOPULARRECENT