Wednesday , September 20 2017
Home / India / कतार‌ में ठ‌हरे हुए लोगों का बैंक पर हमला

कतार‌ में ठ‌हरे हुए लोगों का बैंक पर हमला

भोपाल: देश में परेशान और गुस्से से भरी जनता की ओर से बैंकों और एटीएम के तोड़फोड़ की घटनाए सामने आना शुरू हो गए हैं। मध्या प्रदेश के शिवपुर जिले में पुराने नोट लेने लंबी कतारों में घंटों ठहरने से पैर अकड़ जाते है जनता ने बैंक में तोड़फोड़ मचा दी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि जिला मुख्यालय में यूको बैंक की ब्रांच में जनता की एक लंबी लाइन थी। कई घंटों से ठ‌हरे हुए लोगो का सब्र का पैमाना इस समय ग्रस्त हो गया जब बैंक ने काम बंद करने की घोषणा की।

क्रोध से बेकाबू जनता ने थोड़-फोड़ कर दी और बैंक के मेन गेट को उखाड़ फेंक दिया| मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक मरीज जब इलाज के बाद डॉक्टर 500 रुपये का नोट सौंपा जिस पर डॉक्टर को गुस्सा आ गया और मरीज  अटैंडर के सामने नोट फेंकते हुए कहा कि ” जाओ, नरेंद्र मोदी से इलाज करवा लो ” शिंदे की छावनी नामक क्षेत्र में डॉक्टर मुकेश अपना दवाख़ाना चला रहे हैं।

वहाँ रोगी आरके शिवहर इलाज के लिए पहुंचा। डॉक्टर की फीस के तौर पर‌ जैसे ही शिवहर ने 500 रुपये का नोट दिया, डॉ आगबबूला हो गया जिस पर मरीज ने कहा कि अब तक वह पुराने नोट नहीं बदलवाये हैं। उसने डॉक्टर से सरकार की ओर से किए गए इस घोषणा का उल्लेख भी किया कि डॉक्टर्स शुल्क के रूप में पुरानी मुद्रा स्वीकार करें।

यह सुनकर डॉक्टर मुकेश का गुस्सा और बढ़ गया और उसने 500 रुपये का नोट फेंक दिया और कहा कि ” जाओ प्रधानमंत्री मोदी से इलाज करवा लो ” यह कहकर डॉक्टर मरीज को दवाखाने से निकल जाने का आदेश दिया। रोगी शिवहर ने शिकायत की और कहा कि इस तरह नोटों का स्वीकार न करना भारतीय संविधान का अपमान है, जबकि डॉ। मुकेश का यह भी कहना है कि दूरदराज से आने वाले मरीजों से वह 500 और 1000 रुपये के पुराने मुद्रा नोट स्वीकार कर लिए हैं।

TOPPOPULARRECENT