Monday , August 21 2017
Home / Bihar/Jharkhand / कभी गांधी जी भी पीते थे ताड़ी,इसपर बैन गलत : मांझी

कभी गांधी जी भी पीते थे ताड़ी,इसपर बैन गलत : मांझी

पटना / गया : बिहार में मुकम्मिल शराब बंदी के बाद ताड़ी पर लगे बैन को लेकर बयानों का दौर लगातार जारी है. साबिक वजीरे आला जीतन राम मांझी ने पहले भी ताड़ी बैन के मुखालिफत में बयान दे चुके हैं. एक बार फिर उन्होंने ताड़ी की वकालत करते हुए कुछ ऐसा बोल गये जिससे एक बार फिर सियासत तेज होने का अनुमान लगाया जा रहा है. गया सर्किट हाउस में सहाफियों से बातचीत के दौरान मांझी ने कहा कि ताड़ी जिसे नीरा भी कहते हैं का इस्तेमाल गांधी जी भी करते थे. ऐसे में इसे शराब के जमरे में लाकर बैन करना समझ से परे है.

हम के लीडर जीतन राम मांझी ने नीतीश सरकार के उस हुक्म को आड़े हाथो लिया जिसमें ताड़ी पर बैन की बात कही गयी है. मांझी ने यह भी कहा कि जो ताड़ी में मिलावट करते हैं उनपर कार्रवाई होनी चाहिए ना कि ताड़ी को ही बैन कर देना चाहिए. मांझी का मानना है कि उसके बुनियाद पर तो दूध और मिठाई के साथ मिड-डे मिल भी बैन कर देना चाहिए क्योंकि इसमें भी लोग मिलावट करते हैं. ताड़ी पर भी यही कानून लागू होता है.

गौरतलब हो कि सरकार ने मुकम्मिल शराबबंदी ताड़ी की बिक्री पर भी बैन लगा दिया था. उसे लेकर पासी समाज के लोग काफी खफा हैं.आये दिन धरना और प्रदर्शन जारी है. अभी हाल में गर्दनीबाग में भारी तादद में पासी समाज के लोगों ने एक सभा कर ताड़ी पर से बैन हटाने की मांग की थी.

TOPPOPULARRECENT