Friday , September 22 2017
Home / AP/Telangana / करीमनगर वरंगल और खम्मम में सैलाब का खतरा

करीमनगर वरंगल और खम्मम में सैलाब का खतरा

हैदराबाद 27 सितम्बर:चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्रशेखर राव ने करीमनगर ‘वरंगल और खम्मम जिलों के अधिकारी लोगों को निर्देश दिया है कि वह नदी गोदावरी के जलस्तर में वृद्धि के मद्देनजर कड़ी चौकसी इख़तियार करें। उन्होंने विशेष रूप से खम्मम जिले में भद्राचलम और वरंगल जिले में रामागंडीम स्थानों पर कड़ी चौकसी का निर्देश दिया और अधिकारियों से कहा कि वह महाराष्ट्र के अधिकारियों से लगातार कड़ी में रहें ताकि बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की जाती रहे।मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक विज्ञप्ति में यह बात बताई गई है। तेलंगाना में अब तक 11 लोग बारिश से संबंधित घटनाओं में मारे गए हैं। आठ मौतें मेदक में और तीन वरंगल में हुई हैं।

चंद्रशेखर राव ने करीमनगर का दौरा किया और उन्होंने हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने दूसरे बारिश से प्रभावित स्थानों का भी हवाई सर्वेक्षण किया और अधिकारियों के साथ भारी बारिश और पानी जमा हो जाने के कारण पैदा हुई स्थिति पर एक समीक्षा बैठक भी आयोजित किया।

करीमनगर में पानी के तेज प्रवाह और जमा होने को देखते हुए लगभग एक हजार लोगों को छह गांव से सुरक्षित स्थानों को हस्तांतरित किया गया है। जिले में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश जारी है। करीमनगर जिले में पानी कटह के ऊपर से बहना शुरू हो गया है और इस तटबंध में दरार पैदा हो गई है। नतीजतन यहां पानी जमा हो गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मिशन काकतया के तहत राज्य सरकार ने जिन तालाबों और कनों का पुनरुद्धार सक्रिय था उनमें अधिक पानी जमा हो गया है। इस मिशन के तहत जो तालाबों और कुंटे बहाल किए गए थे उनमें एक में भी दरार पैदा नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री ने कल अपने मंत्रियों से कहा था कि वे अपने संबंधित जिलों में स्थापना करें और राहत और पुनर्वास कार्यों की निगरानी करें।

चंद्रशेखर राव ने बाढ़ की स्थिति के मद्देनजर आज होने वाले कैबिनेट की बैठक को भी स्थगित कर दिया था और मंत्रियों से कहा था कि वह जिला स्तर के अधिकारियों के साथ सहयोग से काम करें और सुनिश्चित करें कि निचले इलाकों में रहने जो जनता को सुरक्षित स्थानों पर पारित किया।

TOPPOPULARRECENT