Tuesday , March 28 2017
Home / Khaas Khabar / कर्नाटका के मंत्री यू टी खादर की बेटी ने 11 साल की उम्र में किया कुरान हिफ्ज़

कर्नाटका के मंत्री यू टी खादर की बेटी ने 11 साल की उम्र में किया कुरान हिफ्ज़

भोजन, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री यू टी खादर की 11 वर्षीय बेटी हव्वा नसीमा को कुरान याद करने में समुदाय की कुछ लड़कियों में से एक होने का गौरव प्राप्त है।

हव्वा को पूरा कुरान याद है, जिसमें लगभग 600 पन्नों में 116 अध्याय और 6,236 वाक्य हैं। वह किसी प्रसिद्ध विश्वविद्यालय जैसे इस्लामिक यूनिवर्सिटी ऑफ़ मदीना से आलिमा का कोर्स करना चाहती है। तन्फीज़ुल कुरान महिला कॉलेज, जहाँ वह कुरान की पढाई कर रही है, वहां उसे इस उपलब्धि के लिए सम्मानित किया गया है।

वास्तव में, कुरान याद करने में हव्वा को सिर्फ 42 दिन लगे। प्रारंभ में, उसने कुरान सीखने की शुरुआत केरल के कासरगोड के मदरसातुल बयान में की। इसके बाद, उसने मंग्लोर के बाहरी इलाके कोनाजे में स्थित तन्फीज़ुल कुरान महिला कॉलेज में दाखिला लिया। तिरुवनंतपुरम के हाफिज मोहम्मद ज़ियाद नदवी की अध्यक्षता में चलने वाले इस संस्थान में हाफिज़ा सुमय्या उसकी शिक्षिका हैं।

शनिवार को संस्थान ने शहर में टीएमए पई इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में आयोजित एक दीक्षांत समारोह में हव्वा और 10 अन्य लड़कियों को हाफिज़ा सम्मान के साथ सम्मानित किया। पुरुष, जो कुरान को कंठस्थ करते हैं उन्हें ‘हाफिज’ के रूप में और महिलाओं को ‘ हाफिज़ा ‘ के रूप में सम्मानित किया जाता है।

मंत्री ने अपनी बेटी को ‘जीवन में सादगी’ की सलाह दी है, जिसका हव्वा पूरे सम्मान के साथ पालन करती है। हालाँकि मंत्री उल्लाल के एक संभ्रांत परिवार से हैं लेकिन उन्होंने अपनी बेटी को ज़िन्दगी की कठिनाइयाँ समझने के लिए गरीब और अनाथ बच्चों के साथ हॉस्टल में रखा है। “वह सिर्फ अपनी धार्मिक शिक्षा के लिए ही सख्त नहीं है बल्कि अपने निजी जीवन में भी वह बहुत व्यवस्थित और समयनिष्ठ है”, खादर के एक करीबी ने हव्वा के बारे में बताया।

हव्वा की आगे चल कर एक धार्मिक शिक्षण संस्थान खोलने और समुदाय के बच्चों को उच्च शिक्षा देने की योजना है, उन्होंने आगे बताया।

हव्वा कुरान, हदीस और दुआओं के साथ साथ अंग्रेजी में भी धाराप्रवाह है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT