Wednesday , May 24 2017
Home / India / कल से प्रदेश में होगी साइकिल और हाथ की जुगलबंदी

कल से प्रदेश में होगी साइकिल और हाथ की जुगलबंदी

 

फैसल फरीद

लखनऊ

आखिरकार कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गठबंधन अब चुनाव में पूरी तरह से उतर गया हैं. कल लखनऊ में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस के बाद रोड शो के माध्यम से चुनावी माहौल तैयार करेंगे.

अब शुरुवात हो रही हैं साइकिल और हाथ की एक साथ ब्रांडिंग की.

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ‘पी के’ फिर एक बार सक्रिय हो गए हैं. प्रचार, स्लोगन, मीटिंग सब ज़िम्मेदारी वही संभाल रहे हैं.

इधर कांग्रेस ने भी परिवर्तन कर लिया हैं. उसका नारा ‘२७ साल यु पी बेहाल’ अब बदल गया हैं. अब नया नारा—यु पी को ये साथ पसंद हैं, साइकिल को हाथ पसंद हैं—के साथ उतरने का प्लान हैं.

कल सपा मुख्यालय पर अखिलेश यादव ने अपने कार्यकर्ताओ, नेताओ और प्रत्याशियों की बैठक ली. इसमें साफ़ तौर पर कह दिया गया कि जहाँ पर कांग्रेस के उम्मीदवार हैं वहां उनकी पूरी मदद करी जाये.

हालांकि सपा के अंदरखाने की माने तो अखिलेश अभी नए नारों को बहुत ज्यादा ओवर प्ले करने के मूड में नहीं हैं. उनका स्लोगन काम बोलता पर ही प्रचार केन्द्रित रखने की उम्मीद हैं. वहीँ कांग्रेस द्वारा एक दो मिनट का गाना भी तैयार किया गया हैं जो यु पी के लड़के (राहुल और अखिलेश) और बाहरी मोदी पर आधारित रहेगा. अखिलेश की टीम वहीँ अपने प्रचार को गंभीर राजनेता के रूप में प्रस्तुत करने में प्रयासरत हैं.

गठबंधन तो हो गया हैं लेकिन अभी भी कुछ सीटो पर बात अटकी हैं. पहले फेज़ की ७३ सीटो में से तीन सीटें ऐसी हैं जहाँ अब सपा और कांग्रेस दोनों का लड़ना तय हैं. यहाँ नाम वापसी की डेट निकल चुकी हैं और दोनों पार्टी के उम्मीदवार मैदान में हैं किसी ने भी परचा वापस नहीं लिया हैं. ये सीटें हैं अलीगढ की कोल विधान सभा जहाँ से सपा ने अज्जू इसहाक और कांग्रेस ने विवेक बंसल को टिकट दिया हाँ. मुज़फ्फरनगर की पुरकाजी सीट पर भी सपा की उमा किरण और कांग्रेस के दीपक कुमार आमने सामने हैं. मथुरा की बलदेव सीट पर भी कांग्रेस के विरेश सनवाल और सपा के रंधीर सिंह धनगर दोनों ने परचा भरा हैं.

अभी भी रायबरेली और अमेठी की १० विधानसभा सीटो पर बात नहीं बन पाई हैं. पिछले चुनाव २०१२ में कांग्रेस ने यहाँ दो और सपा ने सात सीटें जीती थी. एक सीट पर पीस पार्टी के अखिलेश सिंह जीते थे. ज़ाहिर हैं दोनों जनपद की सभी सीटें कांग्रेस अपने पास रखना चाहती हैं जो की मुमकिन नही दिख रहा हैं.

अभी तक सुचना के अनुसार कल दिन में एक बजे प्रेस कांफ्रेंस में राहुल और अखिलेश दोनों मौजूद रहेंगे. देखना होगा की प्रेस कांफ्रेंस कहाँ होंगी. क्योंकि गठबंधन का एलान सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने किया था. पहले ये प्रेस कांफ्रेंस सपा के दफ्तर पर प्रस्तावित थी जिसे बाद में ताज होटल में कर दिया गया था. कल ही चार बजे राहुल और अखिलेश लखनऊ में रोड शो भी करेंगे. जिसमे भीड़ जुटाने के लिए पार्टी के सभी कार्यकर्ताओ को ज़िम्मेदारी दे दी गयी हैं.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT