Monday , August 21 2017
Home / India / कश्मीर में एनकाउंटर के 3 वाक़ियात

कश्मीर में एनकाउंटर के 3 वाक़ियात

श्रीनगर: शुमाली कश्मीर के ज़िला कुपवाड़ा में जारिया कार्यवाईयों के दौरान सिक्योरिटी फोर्सेस के साथ फायरिंग के तबादले में एक नामालूम अस्करीयत पसंद हलाक होगया। एक फ़ौजी ओहदेदार ने बताया कि मांग्या के घने जंगल में सिक्योरिटी फ़ोर्स के साथ एनकाउंटर में एक अस्करीयत पसंद मारा गया जिसकी तफ़सीलात का इंतेज़ार है।

सिक्योरिटी फोर्सेस लाईन आफ़ कंट्रोल के करीब घने जंगलात में 13 नवंबर से ज़बरदस्त तलाशी मुहिम शुरू कर दी है। क्यों कि ये इत्तेलात मौसूल हुई है कि मुसल्लह अस्करीयत पसंदों का एक ग्रुप यहां रुपोश है। वाज़िह रहे कि एक‌ नवंबर को अस्करीयत पसंदों और सिक्योरिटी फोर्सेस के दरमियान बंदूक़ो की लड़ाई में कमांडिंग ऑफीसर राष्ट्रीय राइफ‌ल कर्नल संतोष महारेक मारे गए थे।

जब कि कल भी इसी ज़िले में फायरिंग के तबादले में 2 फ़ौजी ओहदेदार बिशमोल एक लेफ्टेनेंट‌ कर्नल शदीद ज़ख़मी हो गए थे। कश्मीर के अज़ला कुपवाड़ा और अनंतनाग में आज सिक्योरिटी फोर्सेस के साथ अलाहदा अलाहदा एनकाउंटर के वाक़ियात में 4 नामालूम अस्करीयत पसंद हलाक हो गए।

फ़ौज के तर्जुमान ने बताया कि ज़िला अनंतनाग के असग मुक़ाम में आज दोपहर सिक्योरिटी फोर्सेस के साथ तसादुम में 3 अस्करीयत पसंद हलाक हो गए। सिक्योरिटी फोर्सेस ने तलाशी मुहिम के लिये मौज़ा सिले गाम का मुहासिरा कर दिया था। जिस पर अस्करीयत पसंदों ने सिक्योरिटी फोर्सेस पर फायरिंग शुरू कर दी और सिक्योरिटी फोर्सेस ने जवाबी फायरिंग कर दी। फायरिंग का तबादला देर तक चलता रहा। एक और वाक़िया ज़िला कुपवाड़ा में पेश आया जहां पर सिक्योरिटी फोर्सेस ने तलाशी मुहिम के दौरान एक अस्करीयत पसंद को मार गिराया।

TOPPOPULARRECENT