Monday , August 21 2017
Home / Khaas Khabar / कश्मीर में बी जे पी लीडर की बीफ पार्टी पर तनाज़ा

कश्मीर में बी जे पी लीडर की बीफ पार्टी पर तनाज़ा

जम्मू : मर्कज़ी मुमलिकती वज़ीर ज़रात संजीव बिल्लियाँ ने आज कहा कि रियासत में बीफ पर पाबंदी आइद करने के लिए जम्मू-कश्मीर हाइकोर्ट के फैसले पर संख्ती से अमल दरामद किए जाने और अदालती अहकामात की ख़िलाफ़वरज़ी करने पर कार्रवाई की जाये। मर्कज़ी वज़ीर जो कि पार्टी कारकुनों को मुद्रा बैंक के फ़वाइद से वाक़िफ़ करवाने के लिए मुनाक़िदा एक तक़रीब से मुख़ातिब थे।

ये दरयाफ़त किए जाने पर वादी कश्मीर में खुले आम जानवरों के ज़बीहा पर बी जे पी ख़ामोश क्यों है ? उन्होंने कहा कि बी जे पी ख़ामोश नहीं है और ये वाज़िह कर देना चाहता हूँ कि हाइकोर्ट के अहकामात पर सख़्ती से अमल दरामद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा और राजस्थान में बी जे पी ने बीफ पर पाबंदी को यक़ीनी बनाया है।

दीगर मुक़ामात पर भी पाबंदी क़ानून बनाया जाएगा। रियासत में मख़लवा हुकूमत की हलीफ़ जमात की सदर महबूबा मुफ़्ती के इस रिमार्क पर जम्मू-कश्मीर में बीफ के ख़िलाफ़ पाबंदी आइद नहीं किया जाना चाहिए। तबसरा करते हुए मर्कज़ी वज़ीर ने कहा कि ये पीपल्ज़ डेमोक्रेटिक पार्टी का नुक़्ता-ए-नज़र है।

हमारा नहीं & अगर हाइकोर्ट ने फैसला सादर किया है तो इस की पाबंदी ज़रूरी है। इन इत्तेलात पर कि जुनूबी कश्मीर के पार्टी लीडर एक बीफ पार्टी का एहतेमाम करने का मन्सूबा रखते हैं। संजीव बालन ने कहा कि बी जे पी के रियासती सदर ने ये इत्तेला दी कि कोई भी लीडर बीफ पार्टी मुनाक़िद नहीं कर रहा है बल्कि ये वेजिटेरिय‌न और नान वेजिटेरिय‌न पार्टियां होंगी।

अपोज़ीशन नेशनल कान्फ़्रेंस के इस मुतालिबे पर कि पाबंदी के ख़िलाफ़ हुकूमत एक आर्डिनेंस‌ जारी करे। उन्होंने कहा कि हाइकोर्ट फैसलों के ख़िलाफ़ कोई आर्डीनेंस लाने की कोशिश नहीं की जा सकती। अगरचे कि हरएक को इज़हार ख़्याल की आज़ादी है लेकिन उनके ख़्यालात से इत्तेफ़ाक़ करना ज़रूरी नहीं है।

सोश्यल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो फ़िल्म गशत कर रही है जिस में अस्करीयत पसंद मुहतरमा आसीया इंदिराबी को हाइकोर्ट अहकामात के हर ख़िलाफ़ ज़बीहा गा करते हुए दिखाया गया है। इस तनाज़े पर मर्कज़ी वज़ीर ने कहा कि उन्हें उसकी इत्तिला नहीं है लेकिन अगर कोई क़ानून के ख़िलाफ़ क़दम उठाता है तो सख़्त कार्रवाई की जानी चाहिए। एक सवाल के जवाब में मुमलिकती वज़ीर ज़रात ने कहा कि आइन्दा 10 यौम में प्याज़ की काशत मामूल पर आजाएगी।

TOPPOPULARRECENT