Thursday , June 22 2017
Home / Kashmir / कश्मीर में मौत और विनाश पर विराम लगना चाहिए- फारुख अब्दुल्ला

कश्मीर में मौत और विनाश पर विराम लगना चाहिए- फारुख अब्दुल्ला

श्रीनगर। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर में शांति बहाली के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता बहाल करने का आह्वान किया और कहा कि गोली के बदले गोली की नीति से बस राज्य में स्थिति खराब ही होगी।

अब्दुल्ला ने श्रीनगर में कहा, ‘यदि आप कश्मीर में स्थिति सुधारना चाहते हैं तो उसका बस एक रास्ता वार्ता शुरू करना है। बुलेट के जवाब में बुलेट की बात करने से स्थिति खराब ही होगी।’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘बुलेट का जवाब बुलेट नहीं हो सकता। बुलेट का जवाब धैर्य, प्रेम और संवाद द्वारा दिया जा सकता है। हम उससे दूर रहना चाहिए तथा हम आशा करते हैं कि भारत और पाकिस्तान वार्ता की मेज पर आएंगे और वार्ता का नया चरण बहाल होगा ताकि कश्मीर इस समस्या का समाधान हो सके।

मौत और विनाश पर विराम लगना चाहिए ताकि कश्मीर के लोग शांति से जी सकें। टूरिज्म का सीजन शुरू होने वाला है और यदि मृत्यु और विध्वंस का तांडव जारी रहता है तो यहां कौन आएगा? उसका भुक्तभोगी कौन बनने जा रहा है? ये गरीब लोग ही हैं जो पर्यटन पर निर्भर करते हैं।’

युवाओं के आतंकवाद से जु़ड़ने के विषय में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘हमें आतंकवादियों की संवेदना को ध्यान में रखना होगा। उनके हथियार उठाने की क्या वजह है? युवाओं को हथियार उठाने के लिए कौन सी बात बाध्य कर रही है, उसकी जांच के लिए एक उच्च स्तरीय जांच आयोग गठित किया जाना चाहिए।’

आतंकवाद निरोधक अभियानों में हस्तक्षेप करने के विरूद्ध युवाओं को सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत द्वारा चेतावनी दिए जाने का जिक्र करते हुए अब्दुल्ला ने कहा, ‘यह सही नहीं है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT