Sunday , September 24 2017
Home / Kashmir / कश्मीर में हिंसा के दौरान गिरफ्तार अलगाववादी नेताओं और लोगों को रिहा करे सरकार- गिलानी

कश्मीर में हिंसा के दौरान गिरफ्तार अलगाववादी नेताओं और लोगों को रिहा करे सरकार- गिलानी

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता यशवंत सिन्हा से कहा है कि कश्मीर मुद्दे का समाधान कैसे किया जाए, इसे लेकर बातचीत शुरू करने से पहले सरकार को घाटी में अशांति के दौरान गिरफ्तार किए गए अलवादी नेताओं व अन्य लोगों को रिहा करना चाहिए।

यशवंत सिन्हा ने मंगलवार को गिलानी व हुर्रियत के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक सहित अलगाववादियों से मिलने के लिए पांच सदस्यीय दल का नेतृत्व किया। गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत के गुट द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, सिन्हा व अन्य के श्रीनगर पहुंचने के तुरंत बाद उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने गिलानी से उनके आवास पर मुलाकात की। बयान के मुताबिक, बातचीत सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई। गिलानी ने मांग की है कि सभी लोगों व नेताओं को रिहा करना चाहिए और उनके खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने चाहिए, ताकि बातचीत के बाद कश्मीर मुद्दे पर एक साझा व संयुक्त दृष्टिकोण सामने आ सके। सिन्हा के नेतृत्व वाले दल में पूर्व नौकरशाह वजाहत हबीबुल्लाह, पूर्व एयर वाइस मार्शल कपिल काक, पत्रकार भारत भूषण तथा कार्यकर्ता सुशोभा बर्वे शामिल थे।

प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने यह स्पष्ट किया कि वे सरकार का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे और अपनी तरफ से पहल के लिए कश्मीर घाटी का दौरा कर रहे हैं। दौरे का उद्देश्य घाटी में बीते 108 दिनों की अशांति व बंद के बाद जारी गतिरोध खत्म करना है, जिससे कश्मीर घाटी में लोगों का जनजीवन प्रभावित हुआ है।

TOPPOPULARRECENT