Tuesday , October 24 2017
Home / Crime / क़ानून के मुहाफ़िज़ीन के संगीन जराइम

क़ानून के मुहाफ़िज़ीन के संगीन जराइम

एंटी क्रप्शन ब्यूरो की तरफ़ से रिश्वत लेने पर चंदरायन गट्टा पुलिस इस्टेशन के एक सब इन्सपैक्टर को फांसने के तीन दिन बाद दागदार पुलिस वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए पुलिस हुक्काम ने ए सी बी को एक जामे रिपोर्ट पेश की है । 2009 क

एंटी क्रप्शन ब्यूरो की तरफ़ से रिश्वत लेने पर चंदरायन गट्टा पुलिस इस्टेशन के एक सब इन्सपैक्टर को फांसने के तीन दिन बाद दागदार पुलिस वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए पुलिस हुक्काम ने ए सी बी को एक जामे रिपोर्ट पेश की है । 2009 के बयाच के परोबेशनरी एस आई सिरिनिवास रावको 29 फरवरी को पुलिस इस्टेशन में नाजायज़ क़बज़ा के केस में अफ़राद ख़ानदान को गिरफ़्तार ना करने के लिए एक शख़्स से दस हज़ार रुपये रिश्वत हासिल करते हुए रंगे हाथों गिरफ़्तार किया गया ।

गिरफ़्तारी के 48 घंटे के अंदर उन्हें मुअत्तल कर दिया गया । इसी तरह तीन अफ़राद बशमोल दो कांस्टेबलस को शहर में दो दिन कब्ल एक कमसिन लड़की की इस्मत रेज़ि पर गिरफ़्तार किया गया एक कांस्टेबल लड़की की इस्मत रेज़ि का मुल्ज़िम है दूसरा कांस्टेबल जुर्म के लिए उकसाने का मुल्ज़िम है । कांस्टेबलस एस सदलू और जी प्रभाकर रेड्डी का ताल्लुक़ तुकाराम गेट पुलिस इस्टेशन से है।

TOPPOPULARRECENT