Friday , October 20 2017
Home / India / क़ुदरती गैस‌ की क़ीमतों में 33 फ़ीसद इज़ाफ़ा

क़ुदरती गैस‌ की क़ीमतों में 33 फ़ीसद इज़ाफ़ा

सी एन जी शरहें भी तेज़ी से बढ़ींगी, हुकूमत का आलामीया

सी एन जी शरहें भी तेज़ी से बढ़ींगी, हुकूमत का आलामीया

हुकूमत ने आज क़ुदरती गैस‌ क़ीमतों में 33 फ़ीसद इज़ाफे का आलामीया जारी किया है। इस से महाराष्ट्र और गुजरात जैसी रियासतों में सी एन जी की शरहों में भी तेज़ी से इज़ाफ़ा होगा। विज़ारत पेट्रोलीयम-ओ-क़ुदरती हैस ने जुमा को आलामीया जारी करते हुए तमाम अंदरून-ए-मुल्क क़ुदरती गैस पैदा करनेवाली कंपनीयों के लिए नई क़ीमतों पर रहनुमायाना ख़ुतूत भी जारी किए हैं, जिन का एक‌ नवंबर से इतलाक़ अमल में आएगा।

इन रहनुमायाना ख़ुतूत के तहत गैस‌ की क़ीमत गैस पैदा करनेवाली तमाम नामज़द कंपनीयों पर आइद होगी। इन में ओ एन जी सी और ऑयल इंडिया भी शामिल हैं। आलामीया में कहा गया है कि अंदरून-ए-मुल्क क़ुदरती गैस की क़ीमत एक‌ नवंबर 2014 से 31 मार्च 2015की मुद्दत के लिए काबिल इतलाक़ होगी।

इस क़ीमत में इज़ाफे के बाइस महाराष्ट्र और गुजरात में सी एन जी की शरहें भी बढ़ींगी। महानगर गैस‌ लिमिटेड जो सी एन जी का रीटेल इदारा है, मुंबई में पकवान गैस की निकासी करता है। इस ने फ़ी किलोग्राम 4.50 का इज़ाफ़ा किया है। इस ने घरेलू सारिफ़ीन के लिए दी जाने वाली शरहों में भी इज़ाफ़ा किया है।

अदानी गैस ने भी सी एन जी के लिए फ़ी किलोग्राम 3 रुपये के इज़ाफे का मंसूबा बनाया है ताहम इंदिरा पर स़्था गैस लिमिटेड ने जो सी एन जी और पी एन जी के ठोस चिल्लर फ़रोख़त कनुंदा है, दार-उल-हकूमत दिल्ली में उन की शरहों में इज़ाफ़ा ना करने का फ़ैसला किया है। सनअती ज़राए ने कहा कि आई जी एल जो एक ख़ानगी फ़र्म है , सरकारी मिल्कियत वाली जी ए आई एल और बी पी सी एल के कंट्रोल में है।

TOPPOPULARRECENT