Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / क़ुरआन पढ़ने की 30 साल से ख़ाहिश ,एक ग़ैर मुस्लिम भाई का इन्किशाफ़

क़ुरआन पढ़ने की 30 साल से ख़ाहिश ,एक ग़ैर मुस्लिम भाई का इन्किशाफ़

जनाब ताज उद्दीन बड़ी ही बेफ़िकरी से मतला श्यान हक़ में क़ुरआन मजीद के नुस्खे़ और सीरत की किताबें मुफ़्त तक़सीम करते हैं । हम ने देखा कि उसे ऐस आर नगर के रहने वाले 68 साला प्रोफ़ैसर डाक्टर नागेश्वर राव‌ ने उन से क़ुरआन मजीद का नुस्ख़

जनाब ताज उद्दीन बड़ी ही बेफ़िकरी से मतला श्यान हक़ में क़ुरआन मजीद के नुस्खे़ और सीरत की किताबें मुफ़्त तक़सीम करते हैं । हम ने देखा कि उसे ऐस आर नगर के रहने वाले 68 साला प्रोफ़ैसर डाक्टर नागेश्वर राव‌ ने उन से क़ुरआन मजीद का नुस्ख़ा और सीरत की किताबें हासिल किए । ‘

हमारे सवाल पर डाक्टर राॶ ने बताया कि ए ऐस आर नगर वीलफ़ीर आर्गेनाईज़ेशन की एक लाइब्रेरी है । उन्हों ने क़ुरआन मजीद के दो नुस्खे़ हासिल किए एक लाइब्रेरी में रखने और दूसरे ख़ुद मुताला करने के लिए । उन्हों ने ये भी बताया कि 30 बरस से वो क़ुरआन पढ़ने की कोशिश कर रहे थे अब उन की ये कोशिश कामयाब होती नज़र आ रही है ।

दिलसुख नगर के साकन ऐम प्रसाद राव‌ रिटायर्ड लकचरर ने बताया कि वो ये जानने के ख़ाहां हैं कि आख़िर इस्लाम किया है ? उन्हों ने ये भी बताया कि वो कुछ बेचैन हैं और इस बेचैनी को दूर करने के ख़ाहां हैं जो उन के दिल में इस्लाम के बारे में पाई जाती है । प्रसाद राव‌ ने सिरपुर दस्ती ओढ़े चप्पल उतारे इंतिहाई ख़ुलूस के साथ क़ुरआन मजीद का नुस्ख़ा हासिल किया ।

सर लो हाबी नामी एमबी ए तालिब-ए-इल्म ने जो आदिल आबाद का रहने वाला है बताया कि इस ने भगवत गीता तमाम वयदास और बाइबल का मुताला (पाठ वाचन‌)किया है और अब क़ुरआन पढ़ने का ख़ाहां (चाहने वाला)है ।।

TOPPOPULARRECENT