Sunday , October 22 2017
Home / India / कांग्रेस और आर जे डी के बीच‌ इत्तिहाद पर तात्तुल बरक़रार

कांग्रेस और आर जे डी के बीच‌ इत्तिहाद पर तात्तुल बरक़रार

बिहार में कांग्रेस और आर जे डी के बीच‌ आने वाले लोक सभा इंतिख़ाबात में नशिस्तों की तक़सीम के मुआमले में तात्तुल बदस्तूर बरक़रार है जबकि बरसर-ए-इक़तिदार पार्टी जनतादल (यू) ने कांग्रेस के साथ किसी भी किस्म के इत्तिहाद को ख़ारिज कर दिया

बिहार में कांग्रेस और आर जे डी के बीच‌ आने वाले लोक सभा इंतिख़ाबात में नशिस्तों की तक़सीम के मुआमले में तात्तुल बदस्तूर बरक़रार है जबकि बरसर-ए-इक़तिदार पार्टी जनतादल (यू) ने कांग्रेस के साथ किसी भी किस्म के इत्तिहाद को ख़ारिज कर दिया है।

सीनियर लीडर पी सी चाकू जो कि ए आई सी सी कमेटी बराए बिहार के सरबराह भी हैं, ने कहा कि बी जे पी के बरअक्स बिहार में कांग्रेस के पास कई एक ऑप्शन्स मौजूद हैं। उनका ये रिमार्क आर जे डी सरबराह लालू यादव इस पेशकश के बाद आया है जिसके तहत लालू ने 11 लोक सभा नशिस्तों को कांग्रेस के लिए और एक नशिस्त एन सी पी के लिए छोड़ते हुए सोनिया गांधी से अपील की है कि वो नशिस्तों की तक़सीम के हवाले से जल्द से जल्द कोई फ़ैसला करें।

दूसरी तरफ़ जनतादल (यू) सदर शरद यादव ने बिहार में किसी भी नशिस्तों पर कांग्रेस के साथ इत्तिहाद को ख़ारिज करते हुए कहा कि उनकी पार्टी गैरकांग्रेसी और ग़ैर बी जे पी पर मुश्तमिल 11 जमातों के साथ है। इस लिए कांग्रेस के साथ इत्तिहाद का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता।

उन्होंने कहा कि हम ने 11 पार्टियों पर मुश्तमिल महाज़ क़ायम किया है। हम उसे मज़बूत करेंगे और इसके ज़रिया बी जे पी और कांग्रेस के खेल को ख़राब करदेंगे। उन्होंने इस बात से सिरे से इनकार कर दिया कि इस मुआमले में उनकी पार्टी के बीच‌ किसी किस्म की बेचैनी पाई जाती है। उन्होंने ये रिमार्क इस बयान पर किया है जिस में ये कहा गया है कि कांग्रेस पार्टी बैक डोर से नीतीश कुमार के साथ इत्तिहाद क़ायम करने की कोशिश कररही है।

ये क़ियास आराई ज़ोरों पर है कि कांग्रेस ने जद‌ यू के साथ सीट की तक़सीम पर बातचीत शुरू करदी है ताकि आर जे डी पर सीट के तक़सीम के मुआमले में दबाव‌ बनाया जा सके जोकि बिहार में कांग्रेस से इत्तिहाद करते हुए अपने लिए ज़्यादा से ज़्यादा नशिस्तों पर ज़ोर दे रही है।

2004 के लोक सभा इंतिख़ाबात में कांग्रेस ने लालू प्रसाद की आर जे डी और राम विलास पासवान की एल जे पी पार्टी के साथ इत्तिहाद करते हुए इंतिख़ाबात में मुक़ाबला किया था जिस में 40 पार्लीमानी नशिस्तों में से 29 नशिस्तों पर ये इत्तिहाद कामयाब हुई थी। ताहम 2009 में लोक सभा इंतिख़ाबात में कांग्रेस ने तन-ए-तनहा मुक़ाबला किया था और आर जे डी, एल जे पी से रिश्ता तोड़ लिया था।

अब जबकि एल जे पी सरबराह पासवान ने इस बार बी जे पी के साथ इत्तिहाद करलिया है तो आर जे डी ने कांग्रेस से कहा है कि वो जल्द से जल्द इस बारे में फ़ैसला करे कि वो आर जे डी की तरफ़ से पेशकश किए गए 11 लोक सभा नशिस्तों पर मुक़ाबला के लिए तैयार है या नहीं। लालू यादव ने सोनिया गांधी को ये यक़ीन दहानी कराई है कि अगर वो आर जे डी की पेशकश क़बूल करलेती है तो वो बिहार और झारखंड में बेहतर नताइज देने के लिए तैयार हैं।

ताहम लालू यादव की जानिब से अपील किए जाने के बावजूद कांग्रेस पार्टी में ये तज़बज़ब पाया जाता है कि कांग्रेस आर जे डी के साथ इत्तिहाद करे या जद‌ यू के साथ। इस बात की भी खबर है कि सोनिया गांधी आर जे डी के साथ इत्तिहाद के हामी हैं जबकि राहुल जद‌ यू के साथ चाहते हैं।

TOPPOPULARRECENT