Thursday , July 27 2017
Home / Uttar Pradesh / कांग्रेस की बैठक चली 3 दिन, उम्मीदवार चुने कुल 150

कांग्रेस की बैठक चली 3 दिन, उम्मीदवार चुने कुल 150

फैसल फरीद, लखनऊ:  कांग्रेस उत्तर प्रदेश विधान सभा के चुनाव में अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी से गठबंधन की तरफ धीरे धीरे बढ़ती दिख रही है। पिछले तीन दिनों की उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति की कार्यवाही को देखे तो लग रहा है कि गठबंधन होना तय है। तीन दिनों से कांग्रेस ने अपनी राज्य चुनाव समिति की बैठक की।

चर्चा तो 403 विधान सभा पर हुई लेकिन चुने गए सिर्फ 150 उम्मीदवार। जाहिर है कांग्रेस मन बना चुकी है कि उसे गठबंधन करना है। इन सभी उम्मीदवारों के लिस्ट प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर दिल्ली नेतृत्व को सौपेंगे। गठबंधन होने के बाद जो सीटें बचेगीं उनपर लड़ेगी। वैसे कांग्रेस की स्थिति ऐसी नहीं हैं कि वो कुछ सीटों की मांग कर सके। पिछले 27 साल में वो प्रदेश से अपना जनाधार लगभग ख़त्म कर चुकी है।

सूत्रों के अनुसार, वो सीटें जहां से अखिलेश यादव के करीबी लोगों ने दावा किए है उनपर कोई ज्यादा चर्चा नहीं हुई। इशारा साफ़ है कि वो सीटें छोड़नी है। इसी क्रम में जनपद आगरा और फिरोजाबाद की भी सीटों पर चर्चा नहीं हुई। राज बब्बर दोनों जगह से सांसद रह चुके हैं और वहां के टिकट में उन्हीं की चलेगी।

कांग्रेस ने ये भी फैसला किया कि बड़े चेहरों को भी चुनाव में उतरा जाए। हालांकि इसमें संशय यह है कि कांग्रेस खुद तो छोटी हो गई है, लेकिन चेहरे अभी भी अपने आप को बड़ा मानती है। गठबंधन की बाते जैसे-जैसे परवान चढ़ रही है, वैसे-वैसे बहुत कांग्रेसियों के चेहरे उतरते जा रहे है। ज़ाहिर है कि कांग्रेस के नेता चुनाव ज़रूर लड़ना चाहते है, क्योंकि उन्हें हार जीत से फ़र्क नहीं पढ़ता, बल्कि इसी बहाने उनकी अपनी लोकल राजनीति जिंदा रहती है। इधर कई बड़े चेहरे चुनाव से दूरी बनाना चाहते है। क्योंकि अगर चुनाव परिणाम पक्ष में नहीं आया तो आगे की संभावनाएं प्रभावित हो सकती है।

TOPPOPULARRECENT