Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / कांग्रेस पर अवाम में दराड़ पैदा करने का इल्ज़ाम

कांग्रेस पर अवाम में दराड़ पैदा करने का इल्ज़ाम

रियासत की मजमूई तरक़्क़ी और तेलुगू अवाम की ख़ुशहाली तेलुगूदेशम पार्टी का नसब उल‍ एन है। सदर तेलुगू देशम पार्टी मिस्टर नारा चन्द्रबाबू नायडू ने आज ज़िला कृष्णा में गणेश चित्तूरथी पूजा में हिस्सा लेने के बाद ज़राए इबलाग़ के नुमाइंद

रियासत की मजमूई तरक़्क़ी और तेलुगू अवाम की ख़ुशहाली तेलुगूदेशम पार्टी का नसब उल‍ एन है। सदर तेलुगू देशम पार्टी मिस्टर नारा चन्द्रबाबू नायडू ने आज ज़िला कृष्णा में गणेश चित्तूरथी पूजा में हिस्सा लेने के बाद ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए ये बात कही।

नायडू जोकि आत्मा गुरू बस यात्रा के सिलसिले में ज़िला कृष्णा का दौरा कररहे हैं, ने बताया कि तेलुगूदेशमपार्टी रियासत की मजमूई तरक़्क़ी के मुताल्लिक़ संजीदा तौर पर इक़दामात का रिकार्ड रखती है। उन्होंने रियासत की तक़सीम के एलान के लिए मर्कज़ी हुकूमत को मौरिद इल्ज़ाम ठहराते हुए कहा कि रियासत की तक़सीम के मसले पर तेलुगूदेशम पार्टी ने जो मौक़िफ़ इख़तियार किया है, पार्टी इस मौक़िफ़ पर क़ायम है, लेकिन बरसर-ए-इक़तिदार जमात रियासत की तक़सीम के बजाये अवाम में नफ़रत फैलाते हुए सयासी मुफ़ादात हासिल करने की कोशिश कररही है।

नायडू ने बताया कि तेलुगू अवाम मुत्तहिद रहते हुए अपनी मजमूई तरक़्क़ी चाहते हैं, लेकिन बरसर-ए-इक़तिदार कांग्रेस मसले को सयासी बनाते हुए अपने हक़ीर मुफ़ादात की ख़ातिर अवाम के दरमयान दराड़ पैदा कररही है।

उन्होंने रियासत में अमन-ओ-अमान की बरक़रारी पर ख़ुसूसी तवज्जा मर्कूज़ करने का मुतालिबा करते हुए कहा कि पिछ्ले देढ़ माह से सीमा आंध्र मुलाज़मीन की हड़ताल पर मर्कज़ी-ओ-रियास्ती हुकूमतों की तरफ से इख़तियार करदा सर्द मोहरी से एसा महसूस होता हैके हुकूमत ख़ुद हालात को अपने मुफ़ादात की तकमील के लिए बिगाड़ना चाहती है।

उन्होंने पिछ्ले दिन सीमा आंध्र मुलाज़मीन की बसों पर संगबारी के वाक़ियात को अवामी नफ़रत की इब्तिदा क़रार देते हुए कहा कि कांग्रेस, टी आर एस और वाई एस आर कांग्रेस तेलुगू अवाम में नफ़रत के ज़रीये अपना इक़तिदार हासिल करना चाहते हैं जबकि तेलुगू देशमपार्टी रियासत के अवाम में मुहब्बत-ओ-भाई चारा के साथ रियासत की तक़सीम के अलावा दोनों इलाक़ों के अवाम-ओ-इलाक़ों की मजमूई तरक़्क़ी का मंसूबा रखती है।

सदर तेलुगू देशम पार्टी ने बताया कि रियासत की तक़सीम के एलान के साथ अगर मर्कज़ी हुकूमत की तरफ से सीमा आंध्र अवाम के ख़दशात को दूर करने के लिए वज़ाहतें की जातीं तो ये सूरत-ए-हाल पैदा नहीं होती।

उन्होंने बताया कि मर्कज़ी हुकूमत ने सीमा आंध्र अवाम के ख़दशात पर तवज्जा ना देते हुए ये हालात पैदा किए हैं, जिस के नतीजे में तेलुगू अवाम दो हिस्सों में मुनक़सिम होते जा रहे हैं।

उन्होंने अवाम से अपील की के वो अमन-ओ-अमान की बरक़रारी के साथ साथ भाई चारा में दराड़ पैदा ना होने दें और सयासी साज़िशों का शिकार हुए बगै़र हक़ायक़ से आगही हासिल करें।

नायडू ने बताया कि तेलुगूदेशम पार्टी ने रियासत की तक़सीम और तेलंगाना ख़ित्ता से होने वाली नाइंसाफ़ीयों को मद्द-ए-नज़र रखते हुए जो फ़ैसला किया था, इस पर पार्टी अब भी क़ायम है, लेकिन अगर हुकूमत दोनों ख़तों को मसावी तरक़्क़ी के मवाक़े फ़राहम करती इस सूरत-ए-हाल का सामना ना करना पड़ता।

उन्होंने दावा किया कि तेलुगूदेशमपार्टी ने अपने दौर-ए-इक्तदार में इलाके तेलंगाना के साथ मुकम्मिल इंसाफ़ करते हुए इलाके की तरक़्क़ी बिलख़सूस हैदराबाद को आलमी सतह पर मुनफ़रद मुक़ाम दिलवाने में अहम किरदार अदा किया है।

नायडू ने बताया कि हैदराबाद में इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलोजी मर्कज़ के फ़रोग़ के लिए तेलुगूदेशम ने शहर हैदराबाद को ना सिर्फ़ बिल गैटस को मदऊ किया बल्कि बिल क्लिन्टन ने भी शहर हैदराबाद का दौरा करते हुए हुकूमत आंधरा प्रदेश के इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलोजी इक़दामात की सताइश की।

उन्होंने बताया कि रियासत की मजमूई तरक़्क़ी के ज़रीये अवाम को ख़ुशहाल बनाया जा सकता है, लेकिन कांग्रेस ने बदउनवानीयों-ओ-बे क़ाईदगियों के ज़रीये रियासत को बदहाली का शिकार बनादिया है, जिस के सबब रियासत कई तरह के बोहरानों का सामना कररही है।

TOPPOPULARRECENT