Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / कांग्रेस पार्टी को एक वायसराए होटल की तलाश!

कांग्रेस पार्टी को एक वायसराए होटल की तलाश!

* जगन की पार्टी से 25 कांग्रेस और 8 तेल्गुदेशम असेंबली सदस्यों का संपर्क‌

* जगन की पार्टी से 25 कांग्रेस और 8 तेल्गुदेशम असेंबली सदस्यों का संपर्क‌
हैदराबाद।[संवाद दाता:मुहम्मद नईम वजाहत) आंधरा प्रदेश में एक लोकसभा और 18 असेंबली सीटों के मंगलवार‌ को होने वाले उपचुनाव‌ के नतीजों के बाद राजय‌ में नई सियासी सफ़ बंदीयां मंज़रे आम पर आने के आसार हैं।

कांग्रेस के 25 और तेल्गुदेशम के 8 असैंबली सदस्य‌ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी से संपर्क‌ में रहने की खबरें हैं । दिल्ली को खबर‌ मिलते ही सोनीया गांधी के मुबस्सिर और केन्द्रीय मंत्री वज़ीर मिस्टर वाईला रवी हैदराबाद पहुंच गए हैं । कांग्रेस पार्टी को अपने असेंबली सदस्य महफ़ूज़ रखने के लिए एक और वाइसराइ होटल की तलाश है जबकि सदर तेल्गूदेशम पार्टी मिस्टर चंद्रा बाबू नायडू भी तज़ब्जुब का शिकार हैं।

सदर वाईएसआर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी के ख़िलाफ़ की गई हर कार्रवाई कांग्रेस पार्टी के लिए परेशानी का सबब बन रही हैं । जगन मोहन रेड्डी के जेल पहुंच जाने के बाद वाईएसआर कैडर के हौसले पस्त नहीं हुए बल्कि लोगों कि हमदर्दी की लहर में अचानक बढावा होगया है ।

सत्तादार‌ कांग्रेस के 4 असेंबली सदस्यों ने पार्टी के ख़िलाफ़ बग़ावत का पर्चम बुलंद करदिया है । हाल ही में दो कांग्रेस के असेंबली सदस्यों ने कांग्रेस और असेंबली की सदसियत‌ से अस्तीफा देकर‌ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गएं है। चुनावी मुहिम चलाने वाली मिसिज़ विज्याम्मां से मुलाक़ात करते हुए ओर‌ कांग्रेस के दो असेंबली सदस्यों ने इन से दोस्ती जाहिर की और डाक्टर राज शेखर रेड्डी के ख़ानदान वालों से सत्तादार‌ कांग्रेस के सियासी बदला लेने पर सख़्त नाराज़गी जाहिर‌ कि है और अपने हामीयों से मश्वरा करने के बाद वाईएसआर कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के बारे में फ़ैसला करने का एलान किया है ।

कांग्रेस के बहुत से असेंबली सदस्य‌ जगन को जेल भेजने के ख़िलाफ़ हैं । वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की एज़ाज़ी सदर मिसिज़ विज्याम्मां और उन की बेटी मिसिज़ शर्मीला ने जगन के जेल जाने के बाद डोक्टर राज शेखर रेड्डी के हेलीकोप्टर हादिसे से लेकर जगन के जेल जाने और उन के ख़ानदान वालों के साथ जिस तरह डरा धमकाने के मामलें हुए है इन‌ को खुल कर लोगों के सामने पेश करते हुए लोग‌ और राज शेखर रेड्डी के हामी असेंबली सदस्यों की हमदर्दीयां हासिल करने में कामयाब हुई हैं ।

मोतबर सुत्रो से पता चला है कि कांग्रेस के 25 असैंबली सदस्य‌ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी से संपर्क‌ में हैं और साथ ही असल अप्पोज़ीशन तेल्गुदेशम पार्टी के 18 असेंबली सदस्य‌ भी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी से संपर्क‌ में है । अगर इतनी भारी तादाद में कांग्रेस के असेंबली सदस्य पार्टी छोड़ देते हैं तो कांग्रेस हुकूमत अक़ल्लीयत(अल्पसंख्यक) में आजाएगी क्योंकि राजय‌ में 12जून को होने वाले 18 असेंबली हलक़ों के उपचुनाव‌ में कांग्रेस पार्टी को कामयाबी के इमकानात कम हैं ।

प्रजा राज्यम के कांग्रेस में मिलजाने से कांग्रेस पार्टी को कोई फ़ायदा नहीं है । 2009 के आम चुनाव‌ में प्रजा राज्यम के हक़ में इस्तिमाल होने वाले 19 फ़ीसद वोट कांग्रेस के हक़ में इस्तिमाल नहीं होरहे हैं । मुख़ालिफ़ हुकूमत लहर के वोट भी असल अप्पोज़ीशन तेल्गुदेशम के हक़ में इस्तिमाल होने के बजाये। वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के हक़ में इस्तेमाल होने के इमकानात को हरगिज़ नजरअंदाज़ नहीं किया जा सकता ।

इस वक़्त कांग्रेस के पास 153 असेंबली सदस्य हैं । सत्ता के लिए कुल‌ तादाद 148 असेंबली सदस्य‌ होती है । कांग्रेस के पास सिर्फ 15 असेंबली सदस्यों की तादाद ज़ियाद है । प्रजा राज्यम के 17 असेंबली सदस्य कांग्रेस में मिलजाने से कांग्रेस को नई ताक़त मिली थी अगर इत्तिफ़ाक़ से 18 असेंबली हलक़ों पर वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार कामयाब होते हैं तो कांग्रेस को ना सिर्फ 18 हलक़ों का नुक़्सान होगा बल्कि और‌ 25 असेंबली सदस्यों के वाईएसआर कांग्रेस पार्टी में चले जाने की सूरत में मजलिस के 7 असेंबली सदसय‌ भी कांग्रेस को सत्ता से महरूम होने से नहीं बचा सकते ।

दिल्ली को खबर‌ मिलते ही सोनीया गांधी के मुबस्सिर मिस्टर वाईला रवी तुरंत‌ हैदराबाद पहुंच चुके हैं । उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी और सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी से मुलाक़ात की है और हालात का जायज़ा लिया है । सुत्रो ने बताया कि इजलास में चुनावी नतीजों पर कम और कांग्रेस के असेंबली सदस्यों को वाईएसआर कांग्रेस पार्टी में जाने से रोकने के लिए हिक्मत-ए-अमली तैयार करने पर ज़्यादा ग़ौर किया गया है । ज़रूरत पड़ने पर कांग्रेस असेंबली सदस्यों के लिए एक केम्प तैयार करने का भी जायज़ा लिया गया है । जिस तरह 1995 में चंद्रा बाबू नायडू ने इस वक़्त के चीफ़ मिनिस्टर स्वर्गीय‌ एन टी आर के ख़िलाफ़ बग़ावत करते हुए अपनी ताईदी असेंबली सदस्यों का होटल वाइसरे में केम्प तय‌ किया था । इस तरह कांग्रेस पार्टी अपनी हुकूमत के लिए पैदा होने वाले ख़तरे को रोकने के लिए केम्प मुनाक़िद करने वाइसरे होटल की तलाश में है ।

तमाम मंत्रीयों को अपने अपने जिलों के कांग्रेस असेंबली सदस्यों से संपर्क‌ में रहने की हिदायत दी गई है । दूसरी तरफ़ असल अप्पोज़ीशन तेल्गुदेशम पार्टी में भी इस के 8 असेंबली सदस्य जगन के केम्प से और 2 असेंबली सदस्य‌ के टी आर एससे संपर्क‌ में रहने पर खलबली मची हुई है ।

चंद्रा बाबू नायडू बज़ाहिर चंद असेंबली सदस्यों के पार्टी छोड़ने से कोई नुक़्सान ना होने का दावा कर रहे हैं मगर पार्टी के सीनीयर लिडरों को अपने असेंबली सदस्यों से संपर्क‌ में रहने की हिदायत भी दे चुके हैं ।

TOPPOPULARRECENT