Tuesday , October 17 2017
Home / Khaas Khabar / कांग्रेस हुकूमत को बेदखल करने के सी आर को किरण कुमार का चैलेंज

कांग्रेस हुकूमत को बेदखल करने के सी आर को किरण कुमार का चैलेंज

हैदराबाद 30 जनवरी चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने सदर तेलंगाना राष़्ट्र समीती (टी आर एस) के चंद्रशेखर राव‌ को रियास्ती हुकूमत को बेदखल करने का चैलेंज किया। उन्होंने कहा, 'मुझे आप की तरफ़ से हुकूमत को माज़ूल करने का इंतिज़ार है। बर

हैदराबाद 30 जनवरी चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने सदर तेलंगाना राष़्ट्र समीती (टी आर एस) के चंद्रशेखर राव‌ को रियास्ती हुकूमत को बेदखल करने का चैलेंज किया। उन्होंने कहा, ‘मुझे आप की तरफ़ से हुकूमत को माज़ूल करने का इंतिज़ार है। बराए मेहरबानी मेरी हुकूमत को ज़वाल से दो-चार कीजिए।’

सदर टी आर एस के कल किए गए दावे पर रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि हम यहां किसी के रहम-ओ-करम पर नहीं हैं। कांग्रेस ने 2009 में तेलंगाना में 50 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल की थी जबके टी आर एस ने अज़ीम इत्तेहाद (तेलुगु देशम और बाएं बाज़ू) का हिस्सा होने के बावजूद सिर्फ़ 10 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल की। के सी आर ने कल कहा था कि आंध्र प्रदेश में कांग्रेस हुकूमत को ज़वाल से दो-चार करना मुश्किल नहीं है और उन के पास हुकूमत को गिराने की ताक़त है।

चीफ़ मिनिस्टर ने के सी आर को ज़ेली इलाक़ाई जमात का क़ाइद क़रार देते हुए वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह और साबिक़ वुज़राए आज़म जवाहरलाल नहरू , इंदिरा गांधी के अलावा सदर कांग्रेस सोनीया गांधी पर की गई तन्क़ीदों पर शदीद रद्द-ए-अमल का इज़हार किया। उन्हों ने कहा कि जवाहरलाल नहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी अज़ीम क़ाइदीन हैं जिन्हों ने मुल्क की ख़ातिर अज़ीम क़ुर्बानियां दीं। सोनीया गांधी ने वज़ारत-ए-उज़मा का ओहदा दो मर्तबा मुस्तारिद कर दिया जबके मनमोहन सिंह को दुनिया भर में एक दानिश्वर की हैसियत से तस्लीम किया जाता है।

किरण कुमार रेड्डी ने के सी आर के रवैये पर ख़बरदार किया और कहा कि उन की ग़ैर शाइस्ता ज़बान से हमें बेहद तकलीफ़ पहूँची है। के सी आर ने इस तरह के रक़ीक़ फ़िक़रे कसते हुए तमाम तेलुगु अवाम की तौहीन की। वो इस मुक़ाम-ओ-मर्तबे के हामिल नहीं या फिर उन्हें ये हक़ ही नहीं पहूँचता कि ये एसे अज़ीम क़ाइदीन का नाम भी अपनी ज़बान से लें। चीफ़ मिनिस्टर ने के सी आर से इस्तिफ़सार किया कि क्या यही आप की तहज़ीब है? ये इंतिहाई अफ़सोसनाक पहलू है कि अज़ीम क़ाइदीन को निशान मलामत बनाते हुए ये तसव्वुर किया जा रहा है कि वो एक अहम शख़्सियत बन जाएगे। उन्हों ने कहा कि अगर आप अपना चेहरा ऊपर करके थूकेंगे तो ये आप के चेहरे पर ही गिरेगी।

उन्होंने सदर टी आर एस को ख़बरदार किया कि वो जज़बात को भड़काते हुए और अवाम को सड़कों पर लड़ने का मौक़ा फ़राहम करते हुए तेलंगाना का मक़सद हासिल नहीं करसकते। तेलंगाना रियासत के मुतालिबा का हवाला देते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि इस हस्सास और इंतिहाई नाज़ुक-ओ-पेचीदा मसले को हल करने के लिए अगर कुछ मुहलत तलब की जाती है तो इस में क्या ग़लत है और क्या ये कोई जुर्म है? उन्हों ने कहा कि मर्कज़ को इस मसले पर हर पहलू से ग़ौर करना होता है। कांग्रेस पार्टी को सारे मुल्क के मुफ़ाद को पेशे नज़र रखते हुए सूचना पड़ता है। ईसी लिए वो तेलंगाना पर फ़ैसले के लिए वक़्त तलब कररही है। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर दामोदर राज नरसिम्हा और दीगर 9 वुज़रा जिन का ताल्लुक़ इलाक़ा तेलंगाना से है, इस प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद थे।

चीफ़ मिनिस्टर ने के चन्द्र शेखर राव‌ को अपनी ज़बान क़ाबू में रखने का मश्वरा दिया बसूरत दीगर ख़बरदार किया कि क़ानून अपना काम करेगा। आज शाम यहां अपने कैंप ऑफ़िस बेगम पेट पर डिप्टी चीफ मिनिस्टर दामोदर राज नरसिम्हा रियासती वुज़रा पी लकशमया वज़ीर इन्फॉर्मेशन टैक्नालोजी उत्तम कुमार रेड्डी वज़ीर हाव‌ज़नग , पी सुदर्शन रेड्डी वज़ीर बड़ी आबपाशी प्रसाद कुमार, वज़ीर हैंडलूम-ओ-टेक्स्टाईलस डाक्टर गीता रेड्डी , वज़ीर भारी मसनूआत डी नागेंद्र, वज़ीर मेहनत-ओ-रोज़गार बिस्वा राज सारिया , वज़ीर बहबूद बराए पसमांदा तबक़ात , पी सबीता इंदिरा रेड्डी वज़ीर दाख़िला , डी के अरूना वज़ीर इत्तिलाआत-ओ-ताअलुकात-ए-आमा , अनील कुमार गर्वनमैंट विहिप, जी वेंकट रमना रेड्डी गर्वनमैंट चीफ विहिप-ओ-दीगर के हमराह अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए किरण कुमार रेड्डी ने के चन्द्र शेखरराव‌ पर अपनी शदीद ब्रहमी का इज़हार करते हुए हदफ़-ए-मलामत बनाया। उन्होंने कहा कि हक़ीक़त तो ये है कि आप (चन्द्र शेखर राव‌) रियासत आंध्र प्रदेश के तीन इलाक़ों के मिनजुमला एक छोटे इलाक़ा तेलंगाना की इलाक़ाई पार्टी के सदर हैं जबके कांग्रेस पार्टी एक क़ौमी सयासी जमात है और हमेशा वो किसी भी मसले को क़ौमी नज़रिये की रोशनी में ही संजीदगी के साथ ग़ौर-ओ-ख़ौज़ कर के हल करने की कोशिश करती है ।

इस तरह कांग्रेस हाईकमान ने अलहदा रियासत तेलंगाना के मसले पर भी इस की यकसूई के लिए ही मज़ीद कुछ मुहलत तलब की है।चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने अख़बारी नुमाइंदों के इस सवाल पर कि आया रियास्ती हुकूमत पंडित जवाहर लाल नहरू और उन के अफ़राद ख़ानदान-ओ-दीगर क़ौमी क़ाइदीन के ख़िलाफ़ ग़ैर शाइस्ता अलफ़ाज़ इस्तिमाल करने वाले के चंद्रशेखर राव‌ के ख़िलाफ़ कोई मुक़द्दमा दर्ज करवाएगी। जवाब देते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि हुकूमत किसी के ख़िलाफ़ भी आज तक और अब तक कोई मुक़द्दमा दर्ज नहीं करवाई है बल्के क़ानून ख़ुद अपना काम करेगा।

उन्होंने कहा कि रियासत में ग़ैर यक़ीनी सयासी हालात से हुकूमत पर कोई असर होने वाला नहीं है क्योंके हुकूमत अवामी फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए अपने प्रोग्रामों-ओ-स्कीमों को रूबा अमल लारही है। उन्हों ने कहा कि बहरसूरत के सी आर को कोई और नहीं बल्के अवाम ही उन के रवैये पर बेहतर सबक़ सिखाएं गे।

TOPPOPULARRECENT