Monday , October 23 2017
Home / India / कांस्टेबल की मौत की अदालती तहक़ीक़ात कराने की मांग

कांस्टेबल की मौत की अदालती तहक़ीक़ात कराने की मांग

नई दिल्ली। 26 दिसम्बर: कांस्टेबल सुभाष तोमर की मौत के हालात पर पैदा हुए तनाज़े के बीच बी जे पी दिल्ली यूनिट ने आज इस मसले की अदालती तहक़ीक़ात करवाने की मांग की है और हुकूमत पर इलज़ाम लगाया कि वह अपनी गलतियों और नाकामियों की पर्दापोशी

नई दिल्ली। 26 दिसम्बर: कांस्टेबल सुभाष तोमर की मौत के हालात पर पैदा हुए तनाज़े के बीच बी जे पी दिल्ली यूनिट ने आज इस मसले की अदालती तहक़ीक़ात करवाने की मांग की है और हुकूमत पर इलज़ाम लगाया कि वह अपनी गलतियों और नाकामियों की पर्दापोशी करने की कोशिश कररही है।
दिल्ली बी जे पी यूनिट के सदर विजेंदर गुप्ता ने कहा कि जिस तरीके से वज़ीर-ए-दाख़िला, मोतमिद दाख़िला और दिल्ली चीफ़ मिनिस्टर के अलावा कमिशनर दिल्ली पुलिस एस डी एम विवेक और डाँक्टर बयान दे रहे हैं इससे मुतज़ाद सूरत-ए-हाल पैदा होरही है।

एसा मालूम होता है कि ये तमाम लोग मिल कर संगीन साज़िश रच रहे हैं। इस साज़िश का ना सिर्फ़ अदालती तहक़ीक़ात के ज़रीए पता चलाया जा सकता है बल्कि ख़ातियों को आशकार भी किया जा सकता है। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि हुकूमत और पुलिस अपनी ग़लतीयों और नाकामियों की पर्दापोशी के लिए सख़्त रवैय्या इख़तियार कररहे हैं।

गुप्ता ने कहा कि वो कांस्टेबल की मौत को क़तल क़रार देते हैं और 8लोगों के ख़िलाफ़ क़तल का मुक़द्दमा दर्ज करवाया जाना चाहीए। बी जे पी लीडर ने मज़ीद कहा कि चीफ़ मिनिस्टर दिल्ली शीला दीक्षित इस इस्मत रेज़ि वाक़िया पर सियासी खेल खेल रही हैं। हुकूमत दिल्ली भी मुज़ाहिरों का सियासी फ़ायदा हासिल करना चाहती है।

TOPPOPULARRECENT