Tuesday , October 24 2017
Home / India / काबीना की मंज़ूरी ज़रूरी : वज़ीर सेहत‌

काबीना की मंज़ूरी ज़रूरी : वज़ीर सेहत‌

हैदराबाद,8 जनवरी: ( सियासत न्यूज़ ) रियासती वज़ीर सेहत-ओ-तबाबत डाक्टर डी अल रवींद्र रेड्डी ने हुकूमत केख़िलाफ‌ अपनी ख़ामोशी को तोड़ते हुए रियासत में बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा करने की कोशिशों केख़िलाफ़ रियासती वज़ीर इंडो मिनट सी रामचंद रिया के

हैदराबाद,8 जनवरी: ( सियासत न्यूज़ ) रियासती वज़ीर सेहत-ओ-तबाबत डाक्टर डी अल रवींद्र रेड्डी ने हुकूमत केख़िलाफ‌ अपनी ख़ामोशी को तोड़ते हुए रियासत में बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा करने की कोशिशों केख़िलाफ़ रियासती वज़ीर इंडो मिनट सी रामचंद रिया के गुज़िश्ता दिन दीए गए बयान की भरपूर ताईद की और वज़ीर इंडो मिनट के बयान ( तहरीर करदा मकतूब को ) को हक़ायक़ पर मबनी क़रार दिया।

आज यहां सक्रियट्रीट में अख़बारी नुमाइंदों से ग़ैर रस्मी बात चीत करते हुए वज़ीर मौसूफ़ ने कहा कि रियासती हुकूमत
या रियासती चीफ मिनिस्टर को कोई फैसला करने से पहले ना सिर्फ़ रियासती काबीना में मंज़ूरी हासिल करने बल्कि पार्टी से भी मंज़ूरी हासिल करने की ज़रूरत है।

उन्होंने कहा कि अब तक ही रियासती अवाम पर मुख़्तलिफ़ तरीकों से ज़ाइद माली बोझ आइद किया गया है और अब फिर एक बार बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा करने पर अवाम का हुकूमत पर से एतिमाद मुकम्मल ख़त्म हो जाएगा जिस के नतीजे में कांग्रेस पार्टी का मौक़िफ़ काफ़ी कमज़ोर होजाएगा।

उन्होंने कहा कि फ़िलवक़्त रियासत में हुकूमत के ताल्लुक़ से अवाम में मनफ़ी नज़रियात पाए जाते हैं क्योंकि हुकूमत की जानिब से कोई दानिशमंदाना इक़दामात करने के बजाय ग़ैर दानिशमंद इक़दामात ही किए जा रहे हैं। उन्होंने पुरज़ोर अलफ़ाज़ में कहा कि बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा करने का ऐलान करने से पहले पार्टी तोसीई इजलास तलब करने कोई फैसला करना चाहीए ताकि उन इज़ाफ़ों को भी पार्टी की मंज़ूरी तसव्वुर की जा सके।

वज़ीर मौसूफ़ ने कहा कि बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा करने के बजाय कई एक मुतबादिल इक़दामात करते हुए बर्क़ी सूरत-ए-हाल से निमटा जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT