Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / कारें सस्ती, तालीमी क़र्ज़ आसान

कारें सस्ती, तालीमी क़र्ज़ आसान

फाइनैन्स वजीर पी चिदंबरम ने आम चुनावों से पहले इंटरीम बजट पेश करते हुये पीर को कोई नया टैक्स नहीं लगाया और देश में तामीरी सरगर्मियों को रफ्तार देने और घरेलू मांग बढ़ाने के मक़सद से कार, मोबाइल, फ्रिज और एयरकंडिशनर को सस्ता करने का

फाइनैन्स वजीर पी चिदंबरम ने आम चुनावों से पहले इंटरीम बजट पेश करते हुये पीर को कोई नया टैक्स नहीं लगाया और देश में तामीरी सरगर्मियों को रफ्तार देने और घरेलू मांग बढ़ाने के मक़सद से कार, मोबाइल, फ्रिज और एयरकंडिशनर को सस्ता करने का एलान किया।

चिदंबरम ने भारी शोर-शराबे के बीच 2014-15 के लिए इंटरीम बजट पेश किया। बजट में दिफा खर्च में 10 फीसद की बढ़ोतरी, एक रैंक एक पेंशन को मंजूरी, ताहीमी क़र्जे में राहत देने, खवातीन, अक़लियतों और दर्जे फेहरिस्त तब़के के लिए खास तजाऱी़ज का एलान किया है।
चिदंबरम ने यूपीए सरकार की दस साल की कामियाबियों का जिक्र किया और कहा कि सितंबर 2008 से ही आलमी मईशियत तरक्कीपज़ीर मुमालिक की किस्तमत का फैसला करने में अहम रो़ल अदा कर रही थी। जारिया साल की तीसरी एवं चौथी तिमाहियों में मआशी तरक्की की शरह 5.2 फीसद से ज्यादा रहेगी।

चिदंबरम ने कहा कि सरकार ने दिफाई दस्तों के लिए एक रैंक एक पेंशन के उसूलप को कुबूल कर लिया है और इसके लिए 500 करोड़ रुपये मुकर्रर किये गये हैं। दिफा का बजट 10 फीसद बढ़ाकर 2.24 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया है। मार्च तक लिए गए सभी तालीमी क़र्जों पर अदायगी में रियायत की मीयाद बढ़ाने तजवीज है। इससे ब्याज में कमी से लगभग नौ लाख तुलबा को फायदा होगा। इसके लिए 2600 करोड़ रुपये का मुकर्रर किये गये हैं।

अगले साल मुआजिना मन्सूबा खर्च 5,55,322 करोड़ रुपये है जो लगभग पिछले साल के बराकर है। गैर मन्सूबा खर्च में मामूली इज़ाफा किया गया है और इसका अंदाज़ा 12 लाख सात हजार 892 करोड़ रुपये लगाया गया है। 013-14 के लिए माली घाटा जीडीपी के 4.6 फीसद पर क़ाबू कर लिया जायेगा और 2014-15 में यह 4.1 फीसद रहेगा।

चिंदबरम ने नौजवानों की सलाहियतों को तरक्की देने के लिए में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम(नेशनल स्किल डेवलपमेवट कार्पोरेशन) को एक हजार करोड़ रुपये देने की तजवीज रखी है।

TOPPOPULARRECENT