Tuesday , October 17 2017
Home / India / काले धन का पता लगाने हिंद-अमरीका मुआहिदा

काले धन का पता लगाने हिंद-अमरीका मुआहिदा

हिंदुस्तान और अमेरिका ने टैक्स चोरी और माली जराइम का पता लगाने के लिए ख़ुद कारगर‌ तरीके से मालूमात के तबादला के लिए बाहमी मदद‌ में इज़ाफ़ा का फ़ैसला किया है जोकि दोनों ममालिक में काले धन में मुलव्वस अफ़राद और इदारों को गिरफ्त में लेन

हिंदुस्तान और अमेरिका ने टैक्स चोरी और माली जराइम का पता लगाने के लिए ख़ुद कारगर‌ तरीके से मालूमात के तबादला के लिए बाहमी मदद‌ में इज़ाफ़ा का फ़ैसला किया है जोकि दोनों ममालिक में काले धन में मुलव्वस अफ़राद और इदारों को गिरफ्त में लेने में मददगार‌ साबित होसकता है।

इस हवाला से एक अमेरिकी टरीझ़री ओहदेदारों पर मुश्तमिल टीम ने हालिया अर्सा में इंकम टैक्स और सेंटरल बोर्ड आफ़ डायरेक्ट टैक्स (सी बी डी टी) के ओहदेदारों के साथ मुलाक़ात की और बैन हुकूमती मुआहिदा (आई जी ए) पर बातचीत‌ किए जिससे दोनों ममालिक में टैक्स चोरी से जूडे मालूमात और मालियाती जराइम जो अफ़राद या इदारों के ज़रिया अंजाम दिए जाते हैं, मालूमात के तबादला में आसानियां फ़राहम करेंगी।

हिंदुस्तान 2009 से अमेरिका के साथ डबल टैक्सेशन अवीडंस अग्रीमेंट (डी टी ए ए) के साथ किया है और इस में भी बेहतरी पैदा करने के लिए गौर‌ का अमल जारी है। ज़राए ने कहा कि अमेरिका इस मुआमले में एक स्टरीटजक पार्टनर है जिस के तहत काले धन को पता लगाने के लिए खु़फिया मालूमात का ख़ुदकारगर‌ तरीक़ा से तबादला अमल में आता है।

इस हवाला से आई जी ए में अमल आवरी के लिए आला सतही बातचीत‌ जारी हैं जो इक़तिसादी क़ुव्वत के फ़ौरन अकाउंट टैक्स कामप्लेंस ऐक्ट (एफ़ ए टी सी ए) से जूडे है।

TOPPOPULARRECENT