Thursday , August 24 2017
Home / India / कावेरी जल विवाद : बंद का समर्थन कर रहे स्टालिन और कनिमोझी कोर्ट अरेस्ट

कावेरी जल विवाद : बंद का समर्थन कर रहे स्टालिन और कनिमोझी कोर्ट अरेस्ट

चेन्नई : कावेरी विवाद के मद्देनजर कई किसानों एवं व्यापारी संगठनों द्वारा आहूत एक दिवसीय बंद आज तमिलनाडु में शुरू हो गया. इस बंद का समर्थन कर रहे डीएमके पार्टी के वरिष्ठ नेता एमके स्टालिन और कनिमोझी एवं एमडीएमके के नेता वाइको को कोर्ट अरेस्ट कर लिया गया है. बताते चलें कि कर्नाटक और तमिलनाडू के बीच कावेरी नदी के पानी को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है. एम के स्टालिन को उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह ट्रेनों को रोकने की कोशिश कर रहे थे, वहीं उनकी बहन कनिमोझी को चेन्नई में रोडब्लॉक करने के दौरान गिरफ्तार किया गया. उन्हें उनके समर्थकों समेत बसों में बैठाकर दूसरी जगह ले जाया गया.बंद का आह्वान करने वालों ने कहा है कि ‘सड़क एवं रेल रोको’ समेत कई विरोध प्रदर्शन होंगे. इसके चलते कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए राज्यभर में हजारों पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

पुलिस ने कहा कि इस दौरान कड़ी निगरानी की जा रही है और सार्वजनिक शांति भंग करने या सड़क एवं रेल परिवहन की स्वतंत्र आवाजाही में किसी भी प्रकार की बाधा उत्पन्न करने की कोशिशें नहीं करने दी जाएंगी. आमतौर पर सुबह होते ही खुल जाने वाली किराने की स्थानीय दुकानें विरोध के मद्देनजर बंद रहीं. राज्य परिवहन निगम द्वारा संचालित बसों के अलावा ट्रेनें सामान्य रूप से चल रही हैं, लेकिन ऑटो, टैक्सी और वाणिज्यिक माल ढोने वाले वाहन सड़कों से नदारद रहे.

राज्य के लिए कावेरी के जल की मांग करने और कर्नाटक में तमिल लोगों को निशाना साधकर की गई हिंसा के विरोध में बंद का आह्वान किया गया है. सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक, उसके सहयोगियों एवं उससे संबद्ध श्रमिक संघों को छोड़कर द्रमुक, तमिलनाडु कांग्रेस, डीएमडीके, एमडीएमके, वाम दलों और पीएमके समेत अन्य सभी विपक्षी दलों ने बंद का समर्थन किया है. तमिलनाडु में सशस्त्र रिजर्व बलों समेत हजारों पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और चेन्नई में 15,000 पुलिसकर्मी ड्यूटी पर हैं. कर्नाटक से जुड़े व्यापारिक प्रतिष्ठानों, स्कूलों, संस्थाओं और कृष्णगिरि जिले समेत जिन इलाकों में कन्नड़ भाषी लोग रहते हैं, वहां सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है.

TOPPOPULARRECENT