Monday , August 21 2017
Home / India / कावेरी जल विवाद बढा़, 56 बसें फूंकी गई, एक शख्स की मौत के बाद कर्फ्यू

कावेरी जल विवाद बढा़, 56 बसें फूंकी गई, एक शख्स की मौत के बाद कर्फ्यू

नई दिल्ली। कावेरी नदी के जव बंटवारे को लेकर बेंगलुरु में हिंसा और आगज़नी की घटनाओं को देकते हुए शहर के 16 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। सोमवार को एक बस डिपो में 56 गाड़ियां को उग्र भीड़ ने आग के हवाले कर दिया। हिंसा के बाद से माहौल ख़राब बताया जा रहा है। बेंगलुरु में दुकानदारी करने वाले तमिलों के साथ भी मारपीट और उनकी दुकानों में तोड़फोड़ करने की ख़बरें हैं। ये हिंसा ऐसे समय हुई है जब पुलिस ने 15 हज़ार पुलिसकर्मियों की तैनाती का दावा किया। इसके अलावा ये भी कहा गया था कर्नाटक प्रदेश रिजर्व पुलिस, सिटी आम्र्ड रिजर्व पुलिस, रैपिड एक्शन फोर्स, क्विक रिएक्शन टीम, विशेष बल, सीआईएसएफ और आईटीबीपी के जवान मोर्चा संभाल रहे हैं।

उधर केरल ने बेंगलुरु जाने वाली अपनी तमाम बस सेवाएं बंद कर दी हैं। माहौल को देखते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से बात की है और हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया है। फिलहाल जो हालात हैं उसे देखकर लगता नहीं कि इन पर जल्द काबू पाया जा सकेगा। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने कर्नाटक में हिंसा को चिंताजनक बताते हुए सिद्धारमैया को पत्र लिखकर तमिल भाषी लोगों तथा उनकी संपत्तियों की हिफ़ाज़त करने को कहा। कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर ने कहा कि सरकार को प्रदर्शन के इस हद तक जाने की उम्मीद नहीं थी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद थी कि अगर फ़ैसला हमारे ख़िलाफ़ जाता है तो थोड़ा प्रदर्शन होगा लेकिन इस हद तक जाने की उम्मीद नहीं थी.’’ उन्होंने कहा कि हिंसा और आगज़नी के सिलसिले में 200 लोगों को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने कहा कि बलों को संवेदनशील क्षेत्रों में तैनात किया जा रहा है, विशेषकर जहां तमिलनाडु के लोग और प्रतिष्ठान हैं। इसी हिंसा में सोमवार को कर्नाटक में पुलिस गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हृो गया। पुलिस ने उस समय गोली चलाई जब भीड़ ने राजागोपाल नगर थाना क्षेत्र के हेग्गनहल्ली में एक गश्ती वाहन पर हमले का प्रयास किया। ग़ुस्साई भीड़ ने तमिलनाडु के पंजीकरण वाली बसों और ट्रकों में आग लगा दी।

TOPPOPULARRECENT