Monday , August 21 2017
Home / India / कावेरी विवाद में प्रदर्शन से बेंगलुरु को लगभग 25000 करोड़ का नुकसान

कावेरी विवाद में प्रदर्शन से बेंगलुरु को लगभग 25000 करोड़ का नुकसान

बेंगलुरु। कावेरी जल विवाद को लेकर कर्नाटक में बवाल थम नहीं रहा। बेंगलुरु समेत कर्नाटक के कई हिस्सों में मंगलवार को भी छिटपुट हिंसा जारी रही। मंगलवार को भी देश की आईटी राजधानी बेंगलुरु में कामकाज ठप रहा। इससे आइटी सिटी के नाम से मशहूर बेंगलुरु की साख बुरी तरह प्रभावित हुई है। दो दिनों में आइटी कंपनियों को करीब 25,000 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक और तमिलनाडु में हिंसा पर दुख जताया है और लोगों से शांति की अपील की है। उन्होंने बातचीत से ही समस्या के हल पर जोर दिया। इस बीच बेंगलुरु के अस्पताल में भर्ती एक युवक की मौत हो जाने से हिंसा में मरने वालों की संख्या दो हो गई है।

देश की आइटी राजधानी बेंगलुरु में हिंसक प्रदर्शनों का आर्थिक गतिविधियों पर व्यापक असर पड़ा है। आइटी और ई-कामर्स से जुड़ी कंपनियों ने मंगलवार को अपने दफ्तर बंद रखे। यहां टीसीएस, इंफोसिस और विप्रो में करीब 70,000 लोग काम करते हैं। इंफोसिस ने कर्मचारियों को मंगलवार को घर से ही काम करने का निर्देश दिया। अमेजन और फ्लिपकार्ट ने कहा है कि उत्पादों की डिलीवरी प्रभावित हुई है। वहीं फ्लिपकार्ट के सप्लाई चेन ऑपरेशंस के प्रमुख नीरज अग्रवाल ने कहा कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए हमने अपने कामकाज को रोक दिया है। बेंगलुरु में इनके अलावा कई एमफैसिस, ओला, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स और ओरेकल जैसी कई कंपनियों के दफ्तर हैं। उद्योग संगठन एसोचैम के मुताबिक, हिंसा और प्रदर्शनों से अकेले बेंगलुरु में 22,000 से 25,000 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है।

TOPPOPULARRECENT