Saturday , October 21 2017
Home / District News / काग़ज़ नगर

काग़ज़ नगर

* जवाहर नौ दिया विद्यालय का तालिब-ए-इल्म फ़रार *सिर पर में कई अफ़राद बुख़ार में मुबतला * साँप डसने से नौजवान फ़ौत काग़ज़ नगर /28 सितंबर ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) मिस्टर चकरा पानी प्रिंसिपल जवाहर नौ दिया विध्या लिया ने काग़ज़ नगर के पुलिस स

* जवाहर नौ दिया विद्यालय का तालिब-ए-इल्म फ़रार *सिर पर में कई अफ़राद बुख़ार में मुबतला * साँप डसने से नौजवान फ़ौत काग़ज़ नगर /28 सितंबर ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) मिस्टर चकरा पानी प्रिंसिपल जवाहर नौ दिया विध्या लिया ने काग़ज़ नगर के पुलिस स्टेशन में मिस्टर ए मुरली धर अस्सिटैंट सब इन्सपैक्टर आफ़ पुलिस को रिपोर्ट लिखवाई कि जवाहर नौ दिया विध्या लिया में नौवीं जमात का तालिब-ए-इल्म ए वेंकटेश उम्र 14 साल मदरसा हज़ा से फ़रार होने में कामयाब होगया । वो मदरसा में इमतिहान लिख रहा था । इसी दौरान वो मुदरसा की दीवार कूद कर फ़रार होगया। असातिज़ा ने रेलवे स्टेशन और बस असटानडस मैं ढ़ूंडा लेकिन वो कहीं दिखाई नहीं दिया। ए वेंकटेश काग़ज़ नगर के मुहल्ले चिंता गौड़ा का रहने वाला था लेकिन वो घर नहीं गया । इस से क़बल भी वो गुज़शता साल इसी तरह उसी मुदर्रिसा से फ़रार होगया था लेकिन उसे हैदराबाद से पुलिस ने ढूंढ निकाला था । ** मिस्टर कोनेरू कोनपा साबिक़ा रुकन असैंबली सर पर ने हलक़ा सर पर के बजोर , दहिय गाॶं , को ठाला और सिर पुर टी और काग़ज़ नगर में फैले ज़हरीली बुख़ार के ताल्लुक़ से हैल्थ मिनिस्टर और इंचार्ज मिनिस्टर को याददाश्त पेश की । उन्हों ने कहा कि मज़कूरा मंडलों में अवाम ज़हरीली बुख़ार में मुबतला हैं । उन्हें दवा ख़ानों में डॉक्टर्स और दवाए ना होने की वजह से काफ़ी दुशवारीयों का सामना करना पड़ रहा है । तक़रीबन एक सौ लोग दवा ख़ानों में शरीक हैं । जिस में डेंगू बुख़ार और वाइरल फीवर के मरीज़ भी शामिल हैं । उन्हें अगर वक़्त पर दवाएं ना मिलें तो ज़िंदगी से हाथ धोने का ख़तरा है बारिश की वजह मच्छरों की बोहतात है हुकूमत और अवामी नुमाइंदे इस तरफ़ कोई तवज्जा नहीं दे रहे हैं । मिस्टर कोनेरू कोपना ने हुकूमत से अपील की कि अवाम की सेहत के ताल्लुक़ से ज़रूरी इक़दामात किए जाएं । ** को ठाला मंडल के मौज़ा शेवा लंगा पर का रहने वाला बंडी सतीश उम्र 25 साल अपने मकान से खेत की जानिब जा रहा था कि रास्ते में उसे साँप ने डस लिया । उसे को ठाला मंडल के गर्वनमैंट हॉस्पिटल में बग़रज़ ईलाज शरीक करवाया गया । लेकिन वहां ना डाक्टर मौजूद थे और ना ही दवाएं और इंजैक्शन मौजूद थे । इसी लिए उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ा । मिस्टर कावीटी सुमय्या रुकन असैंबली सर पर ने सतीश के घर वालों को पुर्सा दिया और हुकूमत की जानिब से घर वालों की मदद करने का तीक़न दिया । जनाब सादिक़ पाशाह सब इन्सपैक्टर आफ़ पुलिस मसरूफ़ तहक़ीक़ात है।

TOPPOPULARRECENT