Saturday , August 19 2017
Home / Bihar News / किसी में हिम्मत नहीं की मुझे निशाने पे ले सके : शत्रुघ्न सिन्हा

किसी में हिम्मत नहीं की मुझे निशाने पे ले सके : शत्रुघ्न सिन्हा

पटना : पार्टी कियादत पर सीधा हमला बोलते हुए भाजपा के एमपी शत्रुघ्न सिन्हा ने आज कहा कि ‘मुफाद’ वाले लोग बिहार इंतिख़ाब में मिली हार से सबक सीखने से इनकार कर रहे हैं। इसके साथ ही सिन्हा ने वजीरे आजम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी में भी इतनी हिम्मत या डीएनए नहीं है कि मुझे निशाने पर ले सके। हार के लिए जवाबदेही तय करने की सीनियर लीडरों की मांग का हक़ लेते हुए सिन्हा ने कहा कि साझा जिम्मेदारी का ‘‘छद्मावरण’ नाकबीले कुबूल है और इसलाही कार्यवाही के लिए लोगों की जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए।

लोकसभा के एमपी सिन्हा ने पार्टी की मुसलसल तनकीद करने की वजह से अपने खिलाफ की जाने वाली किसी भी कार्रवाई का मज़ाक़ उडाया और कहा कि नासमझ लोगों की तरफ से कार्रवाई की बात करना महज गीदड भभकी है। शत्रुघ्न ने ट्वीट किया, ‘‘कुछ मुफाद वाले अभी भी हैं। वे कोई भी सबक सीखने से इनकार कर रहे हैं, अब भी गलत इत्तिलात के जरिए गलतफहमियां पैदा करने का काम कर रहे हैं। साबिक़ दाखिला सेक्रेटरी और एक बिहारी शेर (जिन्हें पछाडना आसान नहीं) सही हैं। किसी में भी इतनी हिम्मत (या डीएनए) नहीं है कि हमें एक ‘फटकार’ लगा सके।’ शत्रुघ्न की तरफ से डीएनए लफ्ज का इस्तेमाल मोदी की उस तनकीद के नज़रिये में है, जिसमें उन्होंने बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार के डीएनए पर तंज कसा था। नीतीश ने बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब के तशहीर में इसे एक बडा मुद्दा बना दिया था।

सिन्हा ने कहा, ‘‘इस शिकस्त के लिए जो लोग जिम्मेदार हैं, उन्हें यह जवाब देना चाहिए कि यह सब क्यों, कहां और कैसे हो गया ? उन्हें भाजपा के असल सीनियरों को मुतमइन करना चाहिए। नासमझ लोगों की तरफ से कार्रवाई की बात करना महज गीदड भभकी है। यह वक़्त है- रद्दो अमल का, समझने का, माफी मांगने का और पार्टी के दिग्गजों की मुतमइन का।’ बिहार इंतिख़ाब तशहीर शुरु होने के बाद से ही सिन्हा भाजपा के नाकीन रहे हैं लेकिन अब तक वह आला लीडरों पर हमला बोलने से बच रहे थे। इसके बजाय वह अपने निशाने पर रियासत के कियादत को ले रहे थे।

 

TOPPOPULARRECENT