Friday , May 26 2017
Home / India / कुलपति जो अक्सर गर्ल्स हॉस्टल में घुस जाते हैं

कुलपति जो अक्सर गर्ल्स हॉस्टल में घुस जाते हैं

मैसूर यूनिवर्सिटी के कार्यवाहक कुलपति दयानंद माने पर आरोप है कि छोटी-मोटी वजहों का हवाला देकर अकसर गर्ल्स हॉस्टल में घुस जाते हैं। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री से इस मामले में शिकायत की है। शिकायत के अनुसार कुलपति दिन में दो से तीन बार गर्ल्स हॉस्टल चले जाते हैं।

 

 

 

रजिस्ट्रार के मुताबिक वॉर्डन और हॉस्टल की लड़कियों ने भी इस बारे में शिकायत की है। मंत्री के लिखे अपने खत में यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार प्रफेसर आर. रंजना ने आरोप लगाया है कि कार्यवाहक कुलपति दयानंद माने हॉस्टल में लड़कियों के कमरे में घुसे और लड़कियों से फालतू मुद्दों पर बातचीत की।

 

 

 

जब अंग्रेजी दैनिक बेंगलूरू मिरर ने आरोपों की सच्चाई जानने के लिए गर्ल्स हॉस्टल का दौरा किया तो सीसीटीवी फुटेज में माने गर्ल्स हॉस्टल के अंदर इधर-उधर घूमते दिखाई दिए जबकि लड़कियां कॉरिडोर में टहल रही थीं।

 

 

गर्ल्स हॉस्टल के सूत्रों ने पुष्टि की है कि माने ने इस महीने कम से कम 4 मौकों पर ऐसा किया। सूत्रों के मुताबिक वीसी ज्यादातर शाम के वक्त वर्किंग आवर के बाद गर्ल्स हॉस्टल में आते हैं।

 

 

 

एक छात्रा ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि वह कुलपति के इस व्यवहार से तंग आ चुकी हूं। वह हॉस्टल में जॉगिंग के बाद उन्हीं कपड़ों में घुस जाते हैं। मुझे याद है कि पिछले कुलपति रंगप्पान ने अपने 4 साल के कार्यकाल में सिर्फ एक बार हॉस्टल का दौरा किया था।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT