Monday , May 1 2017
Home / India / केंद्र सरकार को 1 फरवरी में आम बजट पेश करने से रोके निर्वाचन आयोग–मायावती

केंद्र सरकार को 1 फरवरी में आम बजट पेश करने से रोके निर्वाचन आयोग–मायावती

फैसल फरीद

लखनऊ पांच राज्यों में विधान सभा चुनाव की तारीखों की घोषणा का स्वागत करते हुए बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष सुश्री मायावती ने भारत के निर्वाचन आयोग से मांग की हैं की केंद्र सरकार को फरवरी 1 को आम बजट पेश करने से रोका जाये. इसी के साथ मायावती ने उत्तर प्रदेश के अलावा पंजाब और उत्तराखंड में भी बसपा के चुनाव लड़ने की घोषणा की.

मायावती ने एक बार फिर एलान किया की बसपा किसी भी पार्टी से समझौता नहीं करेगी और अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी. मायावती ने एक लिखित बयान में कहा है की आम बजट से मतदाताओ को प्रभावित किया जा सकता हैं. उन्होंने ये भी कहा की 2012 की तरह आम बजट पांचो राज्यों की वोटिंग की अंतिम तिथि के बाद पेश किया जाये. मायावती ने चुनाव आयोग से अधिक से अधिक केंद्रीय बल की निगरानी में चुनाव करवाने की बात दोहराई हैं

. उन्होंने कहा की सपा की कामचलाऊ सरकार द्वारा सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग किये जाने की पूरी सम्भावना हैं. प्रदेश सरकार द्वारा पुलिस और प्रशासन को भी अपने संकीर्ण राजनीतिक सार्थ के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा हैं. इसीलिए केंद्रीय बलो की अधिक तैनाती हो और राज्य पुलिस पर कड़ी नज़र राखी जाये और उनका मनमाना व पक्षपातपूर्ण रवैय्या को रोकना सुनिश्चित किया जाये.

मायावती ने ये भी कहा कि बसपा एक अनुशासित पार्टी हैं लेकिन सपा, भाजपा और कांग्रेस द्वारा आचार संहिता की उल्लंघना किया जाता रहा हैं अत: चुनाव आयोग को विशेष सतर्क रहने की ज़रुरत हैं. कल ही मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस कर के बताया था की उन्होंने अपने सारे टिकट फाइनल कर दिए हैं और उनमे अब कान्ट-छांट नहीं होंगी. उम्मीद है की बसपा की सूची 1-2 दिन में जारी हो जाएगी. सबसे ज्यादा बसपा ने 97 सीटो पर मुसलमान उम्मीदवार खड़े किये हैं.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT