Monday , October 23 2017
Home / Delhi News / केजरीवाल आरक्षण विरोधी नहीं तो संविधान के अनुरूप मुसलमानो को आरक्षण दे: जाइंट एक्शन कमेटी

केजरीवाल आरक्षण विरोधी नहीं तो संविधान के अनुरूप मुसलमानो को आरक्षण दे: जाइंट एक्शन कमेटी

नई दिल्ली : गुजरात मे हार्दिक पटेल के आरक्षण के लिए आन्दोलन करने के बाद यह आन्दोलन दिल्ली तक पहुँच चुका है जिसकी कमान दिल्ली मे विभिन्न आंदोलन की अगुवाई करने वाले अमीक जामेई, संभाल रहे हैं जो समाजी इंसाफ के सवाल पर रोहित वेमुला और कन्हैया कुमार के मुद्दे पर जेल की हवा भी खा चुके है

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का राष्ट्रीय चैनल पर चेहरा बन चुके अमीक जामेई ने दिल्ली मे पत्रकारो से बात करते हुये कहा कि देश की दौलत और संसाधन पर पूरी तरह से उच्च वर्ग ने कब्जा जमा रखा है जबकि 80% आबादी को एक खास सोच के तहत पीछे रखा गया है, मण्डल आयोग के बाद भी देखा जा रहा है की उच्च शिक्षा संस्थानो मे पिछड़े आरक्षित सीटो पर उच्च वर्ग की भारतीय दशको से होती है, देश के मंत्रालय या बड़े विभाग मे ओबीसी, अल्पसंख्यक या एससी को क्लर्क रखा जाता है इसलिए आज ज़रूरी है खुद को पिछड़ा बताने वाले वज़ीर ए आज़म से सीधे बात हो!

अल्पसंख्यक पिछड़ो के बारे मे जामेई ने चिंता जताते हुये कहा की चुनाव के वक़्त सभी पार्टीया आरक्षण के मुद्दे पर वादा करती है देखा जाए तो उनकी पार्टी मे पसमांदा समाज का कोई नेतृत्व नहीं होता, जबकि स्माल इंडस्ट्री मे ताकत उसी पिछड़े समाज के मुसलमानो की है, मुस्लिम रिज़र्वेशन के मामले मे ईमानदारी से देखा जाए तो केरल, बंगाल, कर्नाटक और अंधरा प्रदेश मे आरक्षण टिक पाया है जिससे मुसलमानो के कमजोर तबके को शिक्षा और नौकरियों मे भारी बढ़त देखने को मिली है बंगाल मे प्रोफ अमर्त्य सेन की रिपोर्ट के मुताबिक 2014 मे यह तादाद 17% बढ़ी है!
दिल्ली मे रिज़र्वेशन की अगुवाई की बुनियाद डालने वाले आल इंडिया तंजीम ए इंसाफ के दिल्ली जनरल सेक्रेटरी अमीक जामेई ने कहा की दिल्ली मे मुसलमानो ने एक तरफा अरविंद केजरीवाल को वोट दिया लेकिन उनकी तरक़्क़ी के लिए कोई विशेष ध्यान नहीं दिया गया है, हम चाहते है की जिस तरह समाजी इंसाफ की ईमानदार आवाज़ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने केरल और वेस्ट बंगाल मे पसमांदा मुसलमानो को अकसरियत हमपेशावर जातो के मुताबिक 12% और 10% सब कोटा दिया इसी संवैधानिक तरीके से 10% दिल्ली मे कमजोर मुसलमानो को अरविंद सरकार रिज़र्वेशन मे सब कोटा दे! उन्होने कहा की इस तहरीक की शुरुआत 17 जुलाई को जंतर मंतर से होगी, जामेई ने कहा  की हम इस लड़ाई को एक जाइंट एक्शन कमेटी बनाकर लड़ेंगे जिसमे विभिन्न पसमांदा समाज की विभिन्न संस्थाए शामिल है जिसका नेतृत्व पसमांदा फ्रंट के अध्यक्ष युवा तुर्क ज़ाहिद ताज करेंगे!

TOPPOPULARRECENT