Saturday , October 21 2017
Home / India / केजरीवाल के नाम प्रशांत का खुला खत

केजरीवाल के नाम प्रशांत का खुला खत

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) की मुश्किलें खत्म होने का नाम नही ले रही हैं। आप के लीडर प्रशांत भूषण ने पार्टी छोडने का इशारा दिया है। प्रशांत ने केजरीवाल के नाम खुला खत लिखा है। खत के आखिर में भूषण ने गुडबाय...गुडलक लिखा। इससे यह तो स

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) की मुश्किलें खत्म होने का नाम नही ले रही हैं। आप के लीडर प्रशांत भूषण ने पार्टी छोडने का इशारा दिया है। प्रशांत ने केजरीवाल के नाम खुला खत लिखा है। खत के आखिर में भूषण ने गुडबाय…गुडलक लिखा। इससे यह तो साफ हो गया कि प्रशांत भूषण जल्द ही पार्टी को अलविदा कहने वाले है।

खुले खत में प्रशांत भूषण ने केजरीवाल की बराबरी स्टालिन से करते हुए कहा है कि केजरीवाल ने पार्टी के साथ जो किया है, उसके लिए तारीख औरखुदा उन्हें माफ नहीं करेंगे। स्टालिन रूस का तानाशाह था।

भूषण ने केजरीवाल को खत में लिखा है कि, आपको ये समझना होगा कि हां में हां मिलाने वाले लोगों के साथ आप बहुत दूर नहीं जा पाएंगे। हमारी पार्टी बहुत से “Ideals” के साथ बनाई गई थी, आप और आपकी मंडली ने उन Ideals के साथ धोखा किया।

आम आदमी पार्टी में भी अब सुप्रीमो और हाई कमान का शकाफत आ चुका है। दिल्ली में जीत के बाद आपको अपनी सबसे बेहतरीन खूबियां दिखानी चाहिए थीं, लेकिन अफसोस है कि जीत के बाद आपने सबसे खराब शबिहा पेश की। आप पर सवाल उठाने वालों को पार्टी से निकाल देना स्टालिन की याद दिलाता है। आपने पार्टी के साथ जो किया है उसके लिए खुदा और तारीख आपको नहीं भूलेगा।

उधर, पार्टी कारकुनो को बिलावास्ता तौर पर इंतेबाह देते हुए आप लीडर और दिल्ली केInformation Technology Minister के पार्लीमानी सेक्रेटरी आदर्श शास्त्री ने कहा कि बागी लिईडरों योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की ओर से 14 अप्रैल को बुलायी गई बैठक में हिस्सा लेना “जाब्ता शिकनी (Indiscipline)” माना जाएगा। प्रशांत भूषण ने खत में लिखा है कि लोकसभा इंतेखाबात के बाद केजरीवाल दिल्ली में सत्ता हासिल करने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार थे, उन्होंने नवंबर में निखिल दे को फोन कर कांग्रेस की ताईद जुटाने की बात कही थी।

उन्होंने निखिल दे से राहुल गांधी को ताइद के लिए मनाने की बात की थी। आपको बता दें आम आदमी पार्टी के क़ौमी मजलिस आमला और पीएसी से प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की छुट्टी हो चुकी है। दोनों पर पार्टी के खिलाफ बयान देने का इल्ज़ाम लगाया गया है।

TOPPOPULARRECENT