Monday , August 21 2017
Home / Bihar/Jharkhand / केनरा बैंक में 17.10 करोड़ की जालसाजी, बिना कोई कागजात के कर्ज दे दिया गया

केनरा बैंक में 17.10 करोड़ की जालसाजी, बिना कोई कागजात के कर्ज दे दिया गया

रांची : सीबीआइ रांची (इओयू शाखा) ने केनरा बैंक, औरंगाबाद में हुई 17.10 करोड़ की जालसाजी के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है. इसमें बैक के तत्कालीन शाखा प्रबंधक केशव कुमार (अब बर्खास्त) सहित 10 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है.

प्राथमिकी में कहा गया है कि बैंक के तत्कालीन शाखा प्रबंधक ने साजिश के तहत हरिओम कंस्ट्रक्शन, चंडी आटोमोबाइल और केआर आटोमाबाइल के पार्टनर्स को कुल 17.10 करोड़ रुपये का कर्ज दिया. कर्ज देने के लिए बैंक द्वारा निर्धारित शर्तों का उल्लंघन किया गया.
साथ ही इतनी बड़ी रकम कर्ज के रूप में देने के लिए आवश्यक कागजात भी नहीं लिये. कर्ज लेने के बाद आरोपियों ने जल्द ही कर्ज वापसी की प्रक्रिया बंद कर दी. इससे बैंक को 11.59 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. सीबीआइ ने बैंक जालसाजी के सिलसिले में यह प्राथमिकी केनरा बैंक के डिप्टी जेनरल मैनेजर के लिखित शिकायत पर की है.

ये हैं नामजद आरोपी

केशव कुमार, तत्कालीन ब्रांच मैनेजर, केनरा बैंक, औरंगाबाद
विजय कुमार सिंह, पार्टनर मेसर्स हरिओम कंस्ट्रक्शन और चंडी इंटरप्राइजेज
पंकज कुमार सिंह, पार्टनर मेसर्स हरिओम कंस्ट्रक्शन
कुमारी प्रियंका सिंह, पार्टनर मेसर्स हरिओम कंस्ट्रक्शन
राजेश कुमार, पार्टनर मेसर्स हरिओम कंस्ट्रक्शन
अनिल कुमार सिंह, पार्टनर मेसर्स चंडी इंटरप्राजेज
बबलु कुमार, पार्टनर मेसर्स केआर ऑटोमोबाइल्स
गीता शर्मा, पार्टनर मेसर्स केआर ऑटोमोबाइलस
श्रीमति जया, पार्टनर मेसर्स केआर ऑटोमोबाइल्स

TOPPOPULARRECENT