Tuesday , August 22 2017
Home / Business / केयर्न एनर्जी: आयकर विभाग ने भेजा 29,000 करोड़ रुपए का नोटिस

केयर्न एनर्जी: आयकर विभाग ने भेजा 29,000 करोड़ रुपए का नोटिस

नई दिल्ली: आयकर विभाग ने ब्रिटेन की कंपनी केयर्न एनर्जी को 29,000 करोड़ रपए से अधिक की मांग का नोटिस भेजा है जिसमें कर के अलावा पिछली तारीख से कर के बकाये 18,800 करोड़ रूपए का ब्याज भी शामिल है।

केयन ऐसी दूसरी कंपनी है जिसे पिछली तारीख के कर का नोटिस इस साल जारी किया गया। इससे पहले वोडाफोन समूह को इसी तरह का नोटिस मिल चुका है।

केयर्न का मामला 2006 में उसके भारतीय कारोबार के पुनर्गठन के दौरान हुए पूंजीगत लाभ से संबंधित है। आयकर विभाग ने उसे इस संबंध में 22 जनवरी 2014 को 10,247 करोड़ रपए की कर देनदारी के आकलन के आदेश का एक मसौदा जारी किया था। पिछले महीने उसे कर आकलन संबंधी पक्का आदेश जारी किया गया।

केयर्न एनर्जी ने 2015 के अपने वित्तीय परिणामों को जारी करते हुए बताया है कि , ‘‘ यह कर आकलन आदेश 10,247 करोड़ रपए का है और उस पर 2007 से अब तक का 18,800 करोड़ रपए का ब्याज शामिल है।’’ यह नोटिस ऐसे समय में आया है जबकि सरकार इस बात पर जोर दे रही है कि वह पिछली तारीख से कराधान के कराधान कानून के तहत किसी नये कर की मांग नहीं करेगी।

केयर्न को यह नोटिस वित्त मंत्री अरण जेटली द्वारा 2016-17 के बजट में कंपनियों को कर विवादों के समाधान में रियायत की घोषणा से पहले जारी किया गया था। बजट प्रस्ताव के मुताबिक यदि पिछली तारीख से कर की मांग को लेकर विवाद निपटाने के लिए कंपनी को एक बार के लिए मूल राशि अदा करने पर ब्याज एवं जुर्माना माफ करने का प्रस्ताव किया गया है।

सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग के नियमों के मुताबिक आयकर आकलन संबंधी आदेश को दो साल के भीतर पूरा करना होता है और यह नोटिस आकलन को निपटाने के लिए है।

(पीटीआई के हवाले से ख़बर)

TOPPOPULARRECENT