Monday , October 23 2017
Home / District News / के सी आर पर पोलावरम पराजकट का टनडर हासिल करने का इलिज़ा

के सी आर पर पोलावरम पराजकट का टनडर हासिल करने का इलिज़ा

जगत्याल। /31अक्टूबर, ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) तलंगाना के शहीदों की नाशों के सौदे के इव्ज़ के सी आर को पोलावरम पराजकट टनडर हासिल करने का जगत्याल टी डी पी रुकन असैंबली मिस्टर ईल रमना ने अपनी रिहायश गाह पर प्रैस कान्फ़्रैंस को मुख़ात

जगत्याल। /31अक्टूबर, ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) तलंगाना के शहीदों की नाशों के सौदे के इव्ज़ के सी आर को पोलावरम पराजकट टनडर हासिल करने का जगत्याल टी डी पी रुकन असैंबली मिस्टर ईल रमना ने अपनी रिहायश गाह पर प्रैस कान्फ़्रैंस को मुख़ातब करते हुए इल्ज़ाम लगाया। इस मौक़ा पर उन्हों ने कहाकि पोलावरम पराजकट की तामीर के सिलसिला में हमेशा से मुख़ालिफ़त करने वाले के सी आर 12% कम पर टनडर हासिल करते हुए रियास्ती हुकूमत के साथ साज़ बाज़ किया कि इस के इव्ज़ बरसर-ए-इक्तदार पार्टी ने एक रुपया केलो चावल स्कीम की इतने बड़े पैमाने पर तशहीर नहीं की जितनी कि के सी आर के नमस्ते तलंगाना अख़बार के पहले सफ़ा पर ख़बर शाय की गई।उन्हों ने कहा कि इस माह के पहले हफ़्ता मैं तलंगाना तहरीक काफ़ी शिद्दत के साथ चल रही थी तो के सी आर ने कहा था कि दिल्ली से बुलावा आएगा और तलंगाना का क़ियाम बहुत जल्द अमल में आएगा, लेकिन उन्हों ने रास्त तौर पर दिल्ली पहुंच कर दो घंटे तक ग़ायब रहते हुए पोशीदा तौर पर मुलाक़ात करते हुए तलंगाना तहरीक को नुक़्सान पहुंचाने का इल्ज़ाम लगाया।उन्हों ने कहा कि एक तरफ़ तलंगाना के चार करोड़ अवाम अलहदा रियासत केलिए आम हड़ताल करते हुए तालीमी इदारे बंद रख कर और किसान ज़राअत को नुक़्सान पहुंचने के बावजूद अलहदा रियासत केलिए अपने नुक़्सान को बर्दाश्त करते हुए तलंगाना तहरीक में हिस्सा लेते हुए गुज़श्ता ढाई साल में 600से ज़ाइद तलंगाना हामीयों ने ख़ुदकुशी के ज़रीया अपनी जानों की क़ुर्बान दी, लेकिन यही के सी आर ने इन तलंगाना हामीयों की नाशों का सौदा करते हुए पोलावरम पराजकट हासिल किया। तलगोदीशम पार्टी ने तमाम सबूतों और हक़ायक़ के साथ चार करोड़ अवाम के सामने रखा, और के सी आर को खुले आम मुबाहिस केलिए चैलेंज किया गया लेकिन के सी आर ख़ामोशी इख़तियार किए हुए हैं। उन्हों ने कहा कि किसी भी सूरत में पोलावरम पराजकट को तामीर होने नहीं दिया जाएगा, और हुकूमत को चाहीए कि वो टनडरस को मंसूख़ करी।इस मौक़ा पर गट्टू सतीश, जगदीश्वर, बाले शंकर, शौकत ख़ान, मलीशम और सत्य नारायण राॶ और दीगर मौजूद थी.

TOPPOPULARRECENT